विदर्भ के लिए चुनाव लड़ेगी विदर्भ राज्य आंदोलन समिति

0
58
https//:vidarbhaapla.com/
विदर्भ राज्य आंदोलन समिति के प्रवक्ता राम नेवेले (इनसेट में).

सभी विदर्भवादी दलों, संगठनों के साथ समन्वय के लिए सभी 11 जिलों का दौरा 25 से

नागपुर : विदर्भ राज्य आंदोलन समिति ने आगामी लोकसभा और विधानसभा के चुनाव लड़ने का फैसला किया है. समिति ये चुनाव ‘विदर्भ द्या अन्यथा विदर्भ सोडा आंदोलन’ के रूप में लड़ेगी. इसके लिए सभी विदर्भवादी पार्टियों, विदर्भवादी संगठनों, शेतकरी संघटना, बेरोजगार संगठन आदि के साथ समन्वय स्थापित किया जाएगा. यह घोषणा यहां समिति के प्रवक्ता राम नेवले ने एक पत्र परिषद में की है.

भाजपा ने पूरा नहीं किया विदर्भ राज्य देने का आश्वासन
उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी ने पिछले चुनावों में स्वतंत्र विदर्भ राज्य देने का आश्वासन देकर केंद्र और राज्य दोनों में सत्ता पाई. इसके साथ ही उसने उन चुनाव में अनेक आश्वासनों के खैरात बांटे. परंतु पिछले साढ़े चार वर्षों में उसने कोई आश्वासन पूरे नहीं किए. अब वह फिर 2019 के अगले चुनावों की तैयारी में जुटी है. लेकिन अब इस बार विदर्भ राज्य आंदोलन समिति भाजपा के झूठे आश्वासनों के भरोसे नहीं रहेगी.

‘विदर्भ द्या अन्यथा विदर्भ सोडा’ आंदोलन
राम नेवले ने कहा की समिति ने विदर्भ राज्य के गठन के मुद्दे के साथ ही अगले चुनावों में सत्तारूढ़ भाजपा को किसानों की समस्या कर विदर्भ में बढ़ती बेरोजगारी व विदर्भ से संबंधित अन्य के मुद्दों पर उसे घेरेगी. साथ ही 2019 के चुनावों के पूर्व पृथक विदर्भ राज्य का गठन करने के लिए उस पर दवाब बनाएगी. इसके लिए समिति अगले चुनाव में ‘विदर्भ द्या अन्यथा विदर्भ सोडा’ (विदर्भ दो, अन्यथा विदर्भ छोड़ो) आंदोलन के साथ उतरेगी.

‘विदर्भ राज्य निर्माण यात्रा’ निकालने का निर्णय
नेवले ने कहा कि इसके लिए समिति ने स्वतंत्र विदर्भ राज्य की मांग पर जोर देने के लिए ‘विदर्भ राज्य निर्माण यात्रा’ निकालने का निर्णय किया है. यह विदर्भ यात्रा विदर्भ के सभी 11 जिलों में घूमेगी. उन्होंने कहा कि पृथक विदर्भ राज्य निर्माण का संदेश विदर्भ के घर-घर में पहुंचाया जाएगा. उन्होंने कहा कि इसके साथ ही आगामी 25 नवंबर से सभी विदर्भवादी दलों, संगठनों, कार्यकर्ताओं, किसान संगठनों, आदि के साथ समन्वय करने के लिए समिति दौरा शुरू करेगी.

पत्र परिषद में अधि. वामनराव चटप, डॉ. श्रीनिवास खांदेवाले, प्रवीर कुमार चक्रवर्ती, अरुण केदार, अरविंद देशमुख, राजकुमार नागुलवार, विजया धोटे, रंजना मामर्डे, मुकेश मासूरकर, विष्णु आष्टीकर, जयंत चितले आदि उपस्थित थे.

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY