चारा घोटाला पीछा नहीं छोड़ रहा राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद का

0
544
चारा घोटाला

अब बांका जिला सब ट्रेजरी से 46 लाख रुपए की अवैध निकासी मामले में सिर पर टंग गई एक और तलवार

*सीमा सिन्हा-
पटना (बिहार) : चारा घोटाला मामले में लालू प्रसाद यादव की मुश्किलें बढ़ गई हैं. सीबीआई की स्पेशल कोर्ट ने 23 नवंबर को बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू यादव समेत 28 आरोपियों को अदालत में उपस्थित होने का आदेश दिया है. इन मामलों सजा और बाकी बचे मामले में सजा की संभावना के दर्द के साथ बड़े बेटे तेजप्रताप भी उनकी परेशानी बढ़ाने से बाज नहीं आ रहे, पार्टी में पड़ रहे इसके विपरीत असर भी उनका सिर दर्द बढ़ा रहा है.

यह मामला भागलपुर से बांका जिला के उप कोषागार से फर्जी पत्र के सहारे 46 लाख रुपए की अवैध निकासी का है. इसी केस में विशेष कोर्ट ने अनुपस्थित अभियुक्तों के बारे में सीबीआई को निर्देश दिया है कि यह रिपोर्ट दें कि वे जिंदा है या मर गये?

बिहार विधानसभा उपचुनाव में प्रचार करने के लिए लालू यादव पटना आए थे. चुनाव खत्म होते ही पत्नी राबड़ी देवी के साथ वापस दिल्ली लौट गए. बताया गया कि उनकी तबीयत ठीक नहीं है. अब चारा घोटाला मामले में पटना सिविल कोर्ट ने 23 नवंबर को हाजिर होने का आदेश दे दिया है.

एक तो बीमार, ऊपर से कोर्ट का चक्कर, राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) अध्यक्ष लालू यादव की मुश्किलें बढ़ सकती हैं. चारा घोटाला मामले में पटना सिविल कोर्ट से उपस्थित होने का आदेश है. स्पेशल जज प्रजेश कुमार की अदालत ने 23 नवंबर को पूर्व मुख्यमंत्री लालू यादव समेत 28 आरोपियों को अदालत में हाजिर होने के लिए कहा है.

बता दें कि मंगलवार को मामले की सुनवाई के दौरान लालू प्रसाद यादव समेत तीन अभियुक्तों ने बीमारी का कारण देते हुए कोर्ट में वकील के माध्यम से उपस्थित होकर 317 का आवेदन दिया था और कोर्ट में अनुपस्थित होने का कारण बताया था. अदालत ने आवेदन को स्वीकार करते हुए 23 नवंबर को सदेह उपस्थित रहने का निर्देश दिया है.

मामले की सुनवाई के दौरान विशेष कोर्ट में जगदीश शर्मा, आरके राणा, बेग जुलियस, साधना सिंह, ध्रुव भगत, त्रिपुरी मोहन प्रसाद, संजय उत्पल, फ्रेडरिक करकेटा, प्रभाकर कुमार सिंह समेत कुल 16 अभियुक्त सदेह उपस्थित थे, जबकि लालू प्रसाद यादव, नागेंद्र पाठक और प्रकाश कुमार लाल बीमारी के कारण कोर्ट में सदेह उपस्थित नहीं थे.

गौरतलब हो कि यह मामला वर्ष 1996 से चल रहा है. प्रारंभ में कुल 44 अभियुक्त बनाए गए थे. वर्तमान में 28 अभियुक्तों पर मामला चल रहा है और आधा दर्ज अभियुक्त मरने की सूचना कोर्ट तक आ चुकी है. वहीं अन्य मामले में सीबीआई को रिपोर्ट देने का निर्देश दिया गया है.

बता दें कि बांका कोषागार से फर्जी विपत्र के माध्यम से अवैध निकासी से संबंधित है. इसमें लगभग 46 लाख रुपए की अवैध निकासी अभियुक्तों द्वारा आपसी साजिश करने की गई थी.

फिलहाल दिल्ली में हैं आरजेडी सुप्रीमो
फिलहाल लालू यादव की तबीयत ठीक नहीं है. किडनी ट्रांसप्लांट के लिए उनके परिजन विदेश के डॉक्टरों की संपर्क में हैं. वे दिल्ली में बड़ी बेटी और राज्यसभा सांसद मीसा भारती के सरकारी आवास में रह रहे हैं. वे लगातार डॉक्टरों की निगरानी में रहते हैं.

रांची में भी हो सकती है 29 नवंबर को पेशी
लालू यादव पर चारा घोटाले से जुड़े मामले रांची और पटना की अदालतों में चल रहे हैं. रांची के डोरंडा ट्रेजरी से 139 करोड़ 35 लाख रुपए की अवैध निकासी मामले में भी रांची में इसी महीने की तारीख 29 नवंबर को बहस होनी है. हो सकता है वहां भी उन्हें सदेह मौजूद रहने का फरमान मिल जाए.  

NO COMMENTS