87.68 लाख की बिजली चोरी, अनियमितताएं पकड़ी गईं

महावितरण ने चलाया विदर्भ के सात जिलों में 4 से 6 जनवरी तक तीन दिनों का अभियान

0
539

अकोला : राज्य महावितरण के सुरक्षा व कार्यान्वन विभाग की ओर से पिछले 4 से 6 जनवरी तक विदर्भ भर में बिजली चोरी के विरुद्ध चलाए गए विशेष अभियान के अंतर्गत 66 लाख 32 हजार 422 रुपए की करीब 97 बिजली चोरी मामले पकड़े गए. साथ ही 80 प्रकरणों के 21 लाख 36 हजार 221 रुपए मूल्यांकन में अन्य अनियमितताएं भी पाई गईं.

सुरक्षा व कार्यान्वन विभाग की ओर से महावितरण के नागपुर परिक्षेत्र के सात जिलों- नागपुर, अकोला, यवतमाल, वाशिम, अमरावती, बुलढाणा और वर्धा में गत 4 से 6 जनवरी के बीच विशेष अभियान चलाया गया था. इन कुल 177 प्रकरणों में लगभग 9 लाख 87 हजार 69 युनिट्स बिजली चोरी का अनुमान है.

सात जिलों में विद्युत् 401 कनेक्शनों की जांच

महावितरण के कार्यकारी संचालक (सुरक्षा व कार्यान्वन) अरविंद सालवे, नागपुर परिक्षेत्र के प्रादेशिक संचालक भालचंद्र खंडाईत और उपसंचालक (सुरक्षा व कार्यान्वन) मंगेश वैद्य के मार्गदर्शन में चलाए गए इस अभियान के तहत सभी सात जिलों में कुल राबविण्यात 401 विद्युत् कनेक्शनों की जांच की गई थी.

इनमें से 97 में बिजली चोरी और 80 स्थानों पर विद्युत् उपयोग में अनियमितता पाए गए. दोनों ही मामलों में कुल 87 लाख 68 हजार 643 रुपए की गड़बड़ी पाई गई.

अनियमित उपयोग : अनियमितता के सर्वाधिक 37 प्रकरण वाशिम जिले में, उसके बाद नागपुर में 36, अकोला में 29, अमरावती में 26, बुलढाणा में 23, यवतमाल में 21 और वर्धा जिले में 13 प्रकरण पकड़ में आए.

बिजली चोरी : इसके अलावा बिजली चोरी के 97 प्रकरणों में सर्वाधिक 19 नागपुर जिले में, 18 अमरावती में, 15 बुलढाणा में, 14 अकोला में, 13 वाशिम में और 9-9 यवतमाल व वर्धा जिले में पकड़े गए हैं.

NO COMMENTS