आरबीआई के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन बन सकते हैं बैंक ऑफ इंग्लैंड के प्रमुख

0
1107

नई दिल्ली : भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन एक बार फिर किसी केंद्रीय बैंक के शीर्ष पद पर अपनी नई पारी की शुरुआत कर सकते हैं. ब्रिटेन के अखबार फाइनेंशियल टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, बैंक ऑफ इंग्लैंड (बीओई) के प्रमुख पद के संभावित दावेदार के तौर पर राजन का नाम आया है. राजन दुनिया के जाने-माने इकोनॉमिस्ट में शामिल हैं और इस पद के लिए उनकी दावेदारी मजबूत है. रिपोर्ट के मुताबिक, मेक्सिको के केंद्रीय बैंक के प्रमुख व बैंक ऑफ इंटरनेशनल सेटलमेंट्स के नए महाप्रबंधक ऑस्टिन कार्स्टन्स के बजाए शिकागो के अति सम्मानित अर्थशास्त्री और आरबीआई के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन को आकृष्ट करना एक अप्रत्याशित कदम होगा. बता दें कि बैंक ऑफ इंग्लैंड ब्रिटेन का सेंट्रल बैंक है. अभी कनाडा के मार्क कार्ने इसके गवर्नर हैं.

गैर ब्रिटिश नागरिक के हाथ कमान
बैंक के गवर्नर मार्क कार्ने जून 2019 में पद छोड़ देंगे. कनाडा में जन्में मार्क पहले गैर ब्रिटिश नागरिक हैं जिन्हें तीन सदियों में पहली बार इस प्रतिष्ठित बैंक का गवर्नर बनाया गया था. उन्होंने 2013 में गवर्नर पद संभाला था. यूनाइटेड किंगडम के चांसलर फिलिप हैमंड बैंक ऑफ इंग्लैंड के अगले गर्वनर की चयन प्रक्रिया का आगाज कर रहे हैं. हैमंड ने इशारा किया है कार्ने के उत्तराधिकारी के लिए दुनियाभर में खोज जारी है.

Bank of England.

गैर ब्रिटिश नागरिक के हाथ कमान
बैंक के गवर्नर मार्क कार्ने जून 2019 में पद छोड़ देंगे. कनाडा में जन्में मार्क पहले गैर ब्रिटिश नागरिक हैं, जिन्हें तीन सदियों में पहली बार इस प्रतिष्ठित बैंक का गवर्नर बनाया गया था. उन्होंने 2013 में गवर्नर पद संभाला था. यूनाइटेड किंगडम के चांसलर फिलिप हैमंड बैंक ऑफ इंग्लैंड के अगले गर्वनर की चयन प्रक्रिया का आगाज कर रहे हैं. हैमंड ने इशारा किया है कार्ने के उत्तराधिकारी के लिए दुनियाभर में खोज जारी है.

गैर ब्रिटिशन बन सकता है गवर्नर
हैमंड के इस इशारा के यह मतलब लगाया जा रहा है कि इंग्लैंड की सरकार ने एक और गैर-ब्रिटिश को केंद्रीय बैंक का जिम्मा सौंपने से कतरा नहीं रही है. ध्यान रहे कि मौजूदा गवर्नर मार्क कार्नी भी कनाडा के नागरिक हैं. फाइनेंशियल टाइम्स का लेख कहता है कि यूरोपियन यूनियन से निकलने की तैयारी में जुटे इंग्लैंड उस योग्य व्यक्ति की तलाश में है जिसके नेतृत्व में ब्रेग्जिट का नकारात्मक असर देश पर नहीं पड़े.

आरबीआई के गवर्नर रह चुके हैं राजन
राजन इस समय शिकागो विश्वविद्यालय के बूथ स्कूल ऑफ बिजनेस में प्रोफेसर हैं. वह सिंतबर 2013 से लेकर सिंतबर 2016 तक आरबीआई के गवर्नर थे. वह आईएमएफ के पश्चिमी देशों से बाहर से आने वाले और सबसे कम उम्र के पहले मुख्य अर्थशास्त्री व अनुसंधान निदेशक रहे हैं. राजन बैंक ऑफ इंटरनेशनल सेटलमेंट्स के वाइस चेयरमैन के तौर पर भी अपनी सेवाएं दे चुके हैं.

अर्थशास्त्रियों के बीच दौड़
ब्रिटेन का ट्रेजरी डिपार्टमेंट इस पद के लिए जाने-माने अर्थशास्त्रियों की खोज में जुटा है. इस पद को भरने के लिए जल्द आधिकारिक ऐलान भी हो सकता है. आईएमएफ की बैठक के दौरान चांसलर हैमंड ने कहा कि गवर्नर के लिए उनकी खोज शुरू हो चुकी है और जुलाई में इस पोस्ट के लिए विज्ञापन निकाला जा सकता है.

कौन हैं रघुराम राजन?
– राजन का जन्म मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में एक तमिल ब्राह्मण फैमिली में हुआ था.

– दिल्ली के आरकेपुरम स्थित डीपीएस स्कूल से शुरुआती पढ़ाई की.

– बाद में 1985 में आईआईटी दिल्ली से इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग में ग्रेजुएशन किया.

– 1987 में इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट, अहमदाबाद से एमबीए की डिग्री ली.

– राजन ने 1991 में एमआईटी यूनिवर्सिटी से ‘एसेज ऑन बैंकिंग’ में पीएचडी की.

– उन्होंने 4 सितंबर 2013 को यूपीए-2 के कार्यकाल में आरबीआई गवर्नर का पद संभाला था.

NO COMMENTS