कर्ज में डूबे किसान ने कर ली आत्महत्या

0
1706

नहीं मिला कर्ज माफी का लाभ, चुका नहीं पाए थे सहकारी बैंक को 72 हजार

ब्रजेश तिवारी
कोंढाली (नागपुर) :
एक किसान 62 वर्षीय नत्थू संपतराव देशमुख द्वारा गुरुवार को पूर्वाह्न 10 बजे के करीब पास के जंगल के एक पेड़ में फांसी लगा कर आत्महत्या कर लेने का मामला सामने आया.

क्यों नहीं मिला कर्ज माफी का लाभ?
काटोल तहसील के कोंढाली थाना अंतर्गत खापरी क्षेत्र के जुनापाणी गांव के निवासी देशमुख बुधवार की शान से ही घर से बिना कुछ बताए निकल गए थे. राज्य सरकार द्वारा छोटे किसानों के कर्ज माफ करने के कदम उठाने के बावजूद मृतक देशमुख को उसका लाभ नहीं मिल पाने की यह घटना आश्चर्यजनक है. उन्हें कर्ज माफी का लाभ क्यों नहीं मिला, यह प्रश्न यहां सभी के मन में कौंध रहा है. प्राप्त जानकारी के अनुसार क्षेत्र के अनेक किसान कर्ज माफी का लाभ पाने से अभी तक वंचित हैं.

72 हजार का कर्ज चुकाने में विफल रहने से थे परेशान
साढ़े छह एकड़ खेत के मालिक नत्थू देशमुख पर जिला सहकारी बैंक की कोंढाली शाखा का 72 हजार रुपए का कर्ज भरना बाकी था. बकाया कर्ज, फसल चौपट हो जाने और वन प्राणियों द्वारा फसल बर्बाद कर देने से वह बहुत परेशान थे. कर्ज बकाया होने के कारण अगली फसल के लिए किसी अन्य राष्ट्र्रीयकृत बैंक से उन्हें कर्ज भी नहीं मिल रहा था. इसी परेशानी में जंगल की ओर जा कर वे अपने गले में अपने दुपट्टे से फंदा बना कर पेड़ से झूल गए.

वन कक्ष क्रमांक-61 के एक पेड़ से लटकता शव बरामद
वे बुधवार की शाम को ही बिना किसी को कुछ बताए वे घर से निकल गए थे. रात तक जब वे घर नहीं लौटे तो उनकी खोज शुरू हुई. दूसरे दिन सुबह 10 बजे खापरी के वन कक्ष क्रमांक-61 के एक पेड़ से लटकता उनका शव बरामद हुआ. खबर मिलते ही कोंढाली पुलिस वहां पहुंची और शव को अपने अधिकार में लेकर पंचनामा किया और ग्रामीण अस्पताल में शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. अकस्मात मृत्यु का मामला दर्ज कर पुलिस घटना की जांच कर रही है.

NO COMMENTS