महाकवि नीरज का अंतिम संस्कार अलीगढ़ में होगा राजकीय सम्मान के साथ

0
587

सीएम योगी ने किया ऐलान, स्मृति में पुरष्कार की भी की घोषणा

नई दिल्ली/लखनऊ : पद्मश्री और पद्मभूषण से सम्मानित मशहूर महाकवि और गीतकार गोपालदास ‘नीरज’ के निधन पर दु:ख प्रकट करते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि उनकी अंतिम यात्रा राजकीय सम्मान के साथ निकाली जाएगी. मुख्यमंत्री ने इसके लिए आवश्यक निर्देश दे दिए हैं.

अलीगढ़ ले जाया जाएगा पार्थिव शरीर
प्राप्त जानकारी अनुसार नीरज जी के पार्थिव शरीर को शनिवार सुबह आगरा ले जाया जाएगा. वहां उनके चाहने वाले उनका अंतिम दर्शन करेंगे. इसके बाद पार्थिव शरीर को दोपहर बाद अलीगढ़ ले जाया जाएगा, जहां उनकी देह दान की जाएगी. इसके बाद उनका अंतिम संस्कार होगा.

सीएम योगी का ऐलान : महाकवि की स्मृति में…
सीएम योगी ने यह भी ऐलान किया कि यूपी सरकार की तरफ से महाकवि की याद में हर साल प्रदेश के पांच नवोदित कवियों को एक-एक लाख रुपए के नकद पुरस्कार, अंगवस्त्र और सम्मान पत्र दिए जाएंगे.

ज्ञातव्य है कि गुरुवार, 19 जुलाई की शाम 7.50 बजे नीरज जी ने दिल्ली के एम्स में आखिरी सांस ली. वे 93 साल के थे. नीरज जी के निधन पर प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति से लेकर तमाम बड़ी हस्तियों ने दु:ख प्रकट किया. पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने भी ट्वीट कर नीरज को श्रद्धांजलि दी.

देहदान का संकल्प लिया था 2015 में
महाकवि गोपालदास ‘नीरज’ ने 2015 में देहदान का संकल्प लिया था. वो चाहते थे कि मरने के बाद भी उनका शरीर समाज की सेवा करता रहे. महाकवि ‘नीरज’ ने कर्तव्य संस्था को देहदान के संकल्प से जुड़ा शपथ पत्र अक्टूबर 2015 में दिया था. साल 2010 में उन्होंने पहली बार इसकी इच्छा जाहिर की थी. देहदान की शपथ के बाद अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज के एनॉटमी विभाग में प्रक्रिया भी शुरू कर दी थी.

NO COMMENTS