ईवीएम खराबी : चुनाव आयोग पर बरसे गड़करी, बोले- कारण हैरान करने वालें हैं

0
317

समाचार चैनल ‘न्यूज़ 18’ को इंटरव्यू में कहा, भाजपा या मोदी सरकार को इस विवाद में नहीं खींचना चाहिए

नागपुर : केंद्रीय मंत्री नितिन गड़करी ने महाराष्ट्र के भंडारा-गोंदिया लोकसभा उपचुनाव में ईवीएम की खराबी को लेकर चुनाव आयोग की आलोचना की है. उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र उपचुनाव में चुनाव आयोग ठीक तरह से काम करने में नाकाम रहे, लेकिन भाजपा या नरेंद्र मोदी सरकार को इस विवाद में नहीं खींचना चाहिए, क्योंकि चुनाव आयोग एक एक स्वायत्त निकाय है.

समाचार चैनल ‘न्यूज़ 18’ को दिए गए एक इंटरव्यू में गड़करी ने कहा कि चुनाव आयोग द्वारा दिए गए कारण हैरान करने वालें हैं कि ईवीएम और वीवीपीएटी मशीनें इस क्षेत्र में अत्यधिक गर्मी और धूल की वजह से खराब हो गई. जबकि इतनी गर्मी तो (महाराष्ट्र के) विदर्भ में हमेशा ही रहती है.

गड़करी ने कहा, ‘मैं उस समय भंडारा में ही था, जब बहुत सारे ईवीएम काम नहीं कर रहे थे या फिर बंद थे. बताया गया कि गर्मी के कारण से ईवीएम मशीनों ने काम करना बंद कर दिया. गर्मी के कारण से उनका मतलब क्या है? यहां तो हमेशा से ही इतनी गर्मी थी.’

केंद्रीय परिवहन मंत्री गड़करी का यह बयान शिवसेना द्वारा चुनाव आयोग पर किए गए विद्रोही हमले के बाद आया है, जिसमें शिवसेना ने कहा था कि सत्ताधारियों ने चुनाव आयोग, चुनाव और लोकतंत्र को रखैल बना रखा है. बता दें कि शिवसेना का कहना है कि भाजपा वालों ने ईवीएम को भ्रष्ट कर खुद के इस्तेमाल की मशीनरी बना लिया है. इसलिए चुनाव और चुनाव आयोग कोठियों की तवायफ बन गया है.

ज्ञातव्य है कि सोमवार, 28 मई को महाराष्ट्र के भंडारा-गोंदिया लोकसभा क्षेत्र में उपचुनाव के लिए मतदान हुए, लेकिन कई बूथों से ईवीएम में खराबी की खबर आई. बताया गया कि गर्मी की वजह से ईवीएम खराब हो गए हैं. ऐसे में 49 बूथों में फिर से आज बुधवार को मतदान कराना पड़ा है. वहीं, यूपी में ईवीएम खराब हो जाने के कारण 73 बूथों पर बुधवार को फिर से मतदान हुए.

यहां भंडारा-गोंदिया लोकसभा क्षेत्र के निर्वाचन अधिकारी अभिमन्यु काले को मतदान प्रक्रिया में ऐसी गड़बड़ी के लिए मंगलवार, 27 मई को ही हटा दिया गया है. चुनाव आयोग के निर्देश पर उन्हें गोंदिया के जिलाधिकारी पद से और भंडारा जिले प्रभारी जिलाधिकारी पद से भी मुक्त कर दिया गया है. उनके स्थान पर नागपुर जिला परिषद की सीओ कादम्बरी बालकवड़े को निर्वाचन अधिकारी का दायित्व सौंपा गया है. आज क्षेत्र के 49 बूथों पर उनकी देखरेख में ही मतदान कराए गए. आज कहीं से भी ईवीएम मशीन या वीवीपैट के खराब होने की खबर नहीं आई.

NO COMMENTS