किसानों की मांग जायज, केंद्रीय मंत्री गड़करी ने माना

0
1437

अपने गृहनगर में दिया सरकार के चार वर्षों के काम का ब्यौरा, कहा- फिर मोदी ही बनेंगे पीएम

नागपुर : केंद्र सरकार के चार वर्ष पूरे होने के उपलक्ष्य में केंद्रीय मंत्री और नागपुर के सांसद नितिन गड़करी ने शनिवार को अपने यहां केंद्र सरकार, अपने मंत्रालय और नागपुर में पिछले चार वर्षों में सरकार द्वारा किए कार्यों का सिलसिलेवार ब्यौरा दिया. इसके लिए पत्र परिषद आयोजित कर उन्होंने अपनी सरकार के चार वर्षो पर प्रकाश डाला, साथ ही महाराष्ट्र और नागपुर में हुए विकास कार्यो का लेखा-जोखा प्रस्तुत किया.

प्रस्तुत है- विभिन्न मुद्दों पर केंद्रीय मंत्री द्वारा दी गई जानकारी और उनकी राय-
https://www.facebook.com/nitingadkary/videos/10160568633195553/?t=91
किसानों की मांग जायज, सरकार पूरा करने में लगी है
– इन दिनों देश भर के किसान अपने उत्पादन का उचित मूल्य हासिल करने के लिए आंदोलन पर हैं. गुरुवार से शुरू आंदोलन आगामी 10 दिनों तक चलने वाला है, आंदोलन के तहत किसान जगह-जगह प्रदर्शन कर रहे हैं. गड़करी के मुताबिक किसानों की मांगें जायज हैं, फसलों को उचित मूल्य मिले यह प्रयास सरकार द्वारा किया जा रहा है. कुछ हद तक सफलता भी मिली है, लेकिन यह समस्या आज खड़ी नहीं हुई है. मौजूदा वक्त में इसका प्रमुख कारण वैश्विक अर्थव्यवस्था और सरप्लस सप्लाई है. कई वस्तुओं के दाम अंतर्राष्ट्रीय बाजार के हिसाब से तय होते हैं. सरकार किसानों के साथ है, उनकी समस्या हल करने का प्रयास किया जा रहा है.

ड्रायपोर्ट बनाने का काम शुरू, किसानों को होगा फायदा
– महाराष्ट्र प्रगतिशील राज्य है, यहां के किसान भी प्रगतिशील हैं. किसानों के उत्पादन का उचित भाव दिलाने और उन्हें समृद्ध करने के लिए कई कारगर प्रयास किए हैं. उनके मंत्रालय ने ड्रायपोर्ट बनाने का काम शुरू किया है जिसका फायदा किसानों को होगा. जलयुक्त शिवर की वजह से सिंचन के क्षेत्र में व्यापक बदलाव हुआ है.

अपने मंत्रालय के लक्ष्य पूरे करने की ओर
– गड़करी ने बताया कि उन्होंने अपने मंत्रालय के तहत 10 लाख करोड़ का काम और दो करोड़ युवाओं को रोजगार देने का लक्ष्य सुनिश्चित किया था, जिसमें काफ़ी काम हो चुका है.

उपचुनाव के परिणाम सरकार के राजनीतिक भविष्य की कसौटी नहीं
– उपचुनाव के परिणाम की वजह से सरकार के राजनीतिक भविष्य को लेकर कयास लगाना ठीक नहीं है. इन परिणामों के कई फेक्टर हैं, जिसमें विपक्ष की एकता भी एक है. हमारा एजेंडा विकास का है. इस मुद्दे पर भाजपा 2019 का चुनाव लड़ेगी और प्रधानमंत्री मोदी ही बनेंगे.

विपक्ष कर रहा कुप्रचार, भड़का रहा है लोगों को
– भाजपा को लेकर विपक्ष जनता के बीच कुप्रचार कुप्रचार किया जा रहा है. दलितों,मुसलमानों और आदिवासियों को भड़काया जा रहा है. जातिवाद और साम्प्रदायिकता की राजनीति हो रही है. हम जनता के बीच अपनी बात रखेंगे. दलितों को कहा जाता है संविधान ख़त्म किया जाएगा. लेकिन कांग्रेस ने 71 बार खुद संविधान में बदलाव कर आपातकाल लगाया था. जनता हमारा यकीन करेगी. उन्होंने माना कि पेट्रोल-डीजल के बढ़े दाम ने भी चुनाव परिणामों को प्रभावित किया.

कमजोर हैं तो एक है विपक्ष, सीटों और नेता के प्रश्न पर फिर बिखरेंगे
– विपक्ष जब वीक (कमजोर) होता है तो वह एक हो जाता है. आज एक है, इसका मतलब हमारी पार्टी मजबूत हो रही है. जो लोग एक दूसरे का चेहरा पसंद नहीं करते थे, वे आज साथ में हाथ हिलाते हुए फ़ोटो खिंचवा रहे हैं. लेकिन जब सीटों का बंटवारा और विपक्ष का नेता चुनने की बात आएगी, सब फिर से बिखर जाएंगे. 2019 में हमारी ही सरकार बनेगी. कांग्रेस अब क्षेत्रीय दल बनने की कगार पर पहुंच चुकी है. क्रिकेट और राजनीति एक जैसी है, जहां कोई स्थाई नहीं होता, न दोस्त न दुश्मन. हम मर्द हैं, अकेले सबसे लड़ेंगे.

महंगाई दर में कमी आई
-विपक्ष को पेट्रोल-डीजल के बढ़े दाम दिखाई देते हैं, जबकि कई चीजें सस्ती हुई हैं, महंगाई दर में कमी आई है, यह नहीं दीखता.

पवार से मुलाकात राजनीतिक नहीं
– पवार से मुलाकात चीनी के और पालकी मार्ग के प्रश्न पर हुई थी, बेवजह उसे राजनीतिक रंग दिया गया है.

क्षेत्र के सर्वांगीण विकास के तहत ‘खासदार खेल महोत्सव’
– जनप्रतिनिधि को सिर्फ सड़क, पानी, बिजली, ट्रांसफर, यही काम नहीं करने, उसे अपने इलाके के सर्वांगीण विकास को लेकर प्रयास करना चाहिए. नागपुर में हम यही प्रयोग कर रहे हैं. ‘खासदार खेल महोत्सव’ के तहत हमने यह प्रयास किया कि शहर की छवि सुधारी जाए. भविष्य में शहर के सभी मैदानों का स्वरूप बदला जाएगा. कई लोगों को मेडिकल फैसिलिटी विभिन्न माध्यमों से उपलब्ध करा कर देने का प्रयास किया गया है.

दुर्घटना-फ्री बनेगा शहर
– शहर को दुर्घटना-फ्री बनाया जाए, इसका प्रयास किया जा रहा है. मैंने एनएमसी, एनआइटी के साथ अन्य एजेंसियों को कहा है कि वे अपनी सड़कों पर अधिक दुर्घटना होने वाली जगहों के बारे में जानकारी इकट्ठा करें. उसके बाद खास उपाए योजनाएं लागू किए जाएं, जिससे शहर को दुर्घटना से मुक्त किया जा सके.

नागपुर में बन रहे 6,500 सस्ते मकान
-नागपुर में 6,500 सस्ते मकान बनाने का काम शुरू है. भविष्य में 10 हजार सस्ते घर बनाए जाएंगे.

2 रुपए सस्ता मिलेगा डीजल, किसानों को होगा फ़ायदा
-वर्धा-नागपुर-भंडारा में 2 रुपए सस्ता मिलेगा डीजल, इसका फायदा किसानों को होगा. सब्सिडी स्कीम के तहत यह फायदा दिया जा रहा है, आगे इसे पांच रुपए कम तक लेकर जाने की योजना है.

अजनी में मल्टीमॉडल ट्रांसपोर्ट हब बनाने का काम जल्द
-गड़करी ने बताया कि अजनी में बनने वाले मल्टीमॉडल ट्रांसपोर्ट हब का डीपीआर बन चुका है, कुछ महीनों बाद इसका काम भी शुरू हो जाएगा. इस काम के लिए एक कमेटी का गठन किया गया है, जिसकी अध्यक्षता विभागीय आयुक्त अनूप कुमार कर रहे हैं. उनके मंत्रालय ने खुद इस काम के लिए 800 करोड़ रुपए का प्रावधान किया है. एक अमेरिकन कंसल्टेंट ने इसका डिजाईन तैयार किया है, जिस पर संबंधित विभागों में विचार-विमर्श जारी है.

75 एकड़ में बनेगा हब
– अनूप कुमार ने बताया कि इंटीग्रेटेड मल्टीमॉडल स्टेशन का डीपीआर नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया द्वारा बनाया गया है. 75 एकड़ में बनने वाले इस प्रोजेक्ट में रेल विभाग की भी जमीन है. डिजाईन को लेकर रेल विभाग की कुछ आपत्ति है, उस पर उनके सुझाव लेकर बदलाव किया जा रहा है. सभी विभागों के संतुष्ट हो जाने के बाद डीपीआर को मंजूरी के लिए एनएमसी को भेजा जाएगा और मंजूरी मिलते ही डेढ़ महीने में टेंडर प्रक्रिया शुरू हो जाएगी.

अकेले नागपुर में 56 हजार करोड़ के काम
– गड़करी ने दावा किया कि अकेले नागपुर में 56 हजार करोड़ रुपए के काम हो रहे हैं, जबकि राज्य में 5 लाख करोड़ रुपए का काम उनका मंत्रालय कर रहा है.

मिहान में 75 हजार से अधिक लोगों को मिला रोजगार
– मिहान में 11,198 लोगों को प्रत्यक्ष रूप से और 64,952 लोगों को अप्रत्यक्ष रूप से मिला रोजगार,
– मेट्रो में 813 सीधे, जबकि 10,300 अप्रत्यक्ष और
– एमआईडीसी मिहान में 1,415 युवकों को रोजगार उपलब्ध होने की जानकारी देते हुए गड़करी ने बताया कि
– एक वर्ष बाद मिहान में 36,519 जबकि अप्रत्यक्ष तौर पर 3 लाख 42 हजार 142 लोगों को रोजगार मिलेगा.

NO COMMENTS