मानहानि : एक और मामले में राहुल गांधी को अग्रिम जमानत

0
1171
मानहानि
मुंबई में एयरपोर्ट पर राहुल गांधी का स्वागत करते हुए पूर्व सांसद एवं मुंबई कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष संजय निरूपम.

मुंबई : मुंबई के शिवड़ी कोर्ट में दायर एक और मानहानि मुकदमें में कांग्रेस नेता राहुल गांधी को अग्रिम जमानत मिल गई है. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (संघ) से जुड़े राहुल के बयान के खिलाफ एक सघ कार्यकर्ता ने मानहानि का मुकदमा दर्ज कराया है. आरोप है कि राहुल गांधी ने पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या को भाजपा-संघ की विचारधारा से जोड़ा था.

एक और मामला भिवंडी अदालत में लंबित
महाराष्ट्र में राहुल गांधी के खिलाफ मानहानि मामले में ही एक अन्य संघ कार्यकर्ता द्वारा दायर की गई यह दूसरी याचिका है. इससे पहले 2014 में, एक स्थानीय कार्यकर्ता राजेश कुंते ने महात्मा गांधी की हत्या के लिए कथित रूप से संघ पर आरोप लगाने के लिए राहुल के खिलाफ याचिका दायर की थी. वह मामला ठाणे में भिवंडी अदालत में लंबित है.

15 हजार के निजी मुचलके पर अग्रिम जमानत
सुनवाई के दौरान कोर्ट में राहुल गांधी ने अपने आपको बेकसूर बताया. इसके बाद कोर्ट ने 15 हजार रुपए के निजी मुचलके पर अग्रिम जमानत दे दिया. कांग्रेस के पूर्व सांसद एकनाथ गायकवाड़ ने राहुल गांधी की जमानत ली. बता दें कि गौरी लंकेश की सितंबर 2017 में बंगलुरु में उनके घर के गोली मारकर हत्या कर दी गई थी.

इस दौरान, राहुल गांधी की अगुआई में पार्टी नेता कृपाशंकर सिंह, बाबा सिद्दीकी, मिलिंद देवड़ा, संजय निरूपम अदालत के अंदर मौजूद थे. राहुल गांधी कोर्ट में पेशी के लिए मुंबई पहुंचे. एयरपोर्ट के बाहर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने नारों के साथ उनका स्वागत किया. समर्थकों ने ‘राहुल तुम संघर्ष करो, हम तुम्हारे साथ हैं’ के नारे लगा रहे थे.

शिकायतकर्ता ध्रुतिमन जोशी ने वरिष्ठ कांग्रेस नेता सोनिया गांधी और सीपीएम नेता सीताराम येचुरी पर भी ऐसे मामले दायर किए थे, लेकिन कोर्ट ने उन्हें खारिज कर दिया था. जोशी ने अपनी याचिका में कहा है कि लंकेश की हत्या के मुश्किल से 24 घंटों के बाद ही राहुल गांधी ने हत्या के लिए आरएसएस और उसकी विचारधारा को जिम्मेदार ठहरा दिया था.

पटना और अहमदाबाद में भी केस दर्ज
वहीं, चर्चा है कि राहुल गांधी आगामी हफ्ते में कई केसों पर सुनवाई के चलते अपनी अमेरिका यात्रा को रद्द कर सकते हैं. उन पर पटना और अहमदाबाद में भी केस दर्ज हैं. सूत्रों के हवाले से खबर है कि राहुल कांग्रेस वर्किंग कमेटी (सीडब्ल्यूसी) की बैठक से दूरी बना सकते हैं.

गौरतलब है कि राहुल गांधी ने बुधवार को कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया. राहुल गांधी के मुताबिक, उन्हें लोकसभा चुनाव में पार्टी के प्रदर्शन के लिए दोषी ठहराया जाना चाहिए, क्योंकि पार्टी 542 में से केवल 52 सीटों पर ही जीत दर्ज कर पाई. राहुल ने कहा कि भाजपा की व्यापक जीत ने यह साबित कर दिया है कि देश के संस्थागत ढांचे पर कब्जा करने का आरएसएस का लक्ष्य अब पूरा हो गया है.

NO COMMENTS