डॉ. हेडगेवार ब्लड बैंक में Gamma Irradiation Facility की स्थापना

0
502
डॉ. हेडगेवार
डॉ. हेडगेवार ब्लड बैंक -

 

वेकोलि ने ‘प्रदान की 35.09 लाख रुपए की वित्तीय सहायता


नागपुर : डॉ. हेडगेवार ब्लड बैंक, नागपुर में Gamma Irradiation Facility की स्थापना की गई है. इस Facility का उद्घाटन वेस्टर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड के अध्यक्ष सह प्रबंध निदेशक जे.पी. द्विवेदी, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के मुख्य समिति सदस्य भैय्याजी जोशी तथा कार्यकारी निदेशक AIIMS, नागपुर  डॉ.(प्रा.) प्रशांत जोशी ने विगत 9 मई 2024 को किया. 
डॉ. हेडगेवार

Gamma Irradiation Facility की स्थापना के लिए वेस्टर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड (वेकोलि) ने सीएसआर फंड से डॉ. हेडगेवार ब्लड बैंक में 35.09 लाख रुपए की वित्तीय सहायता प्रदान की है. डॉ. हेडगेवार ब्लड सेंटर एनएबीएच मान्यता के साथ मध्य भारत का एक प्रसिद्ध ब्लड सेंटर है.

इस अवसर पर उद्घाटन समारोह में वेकोलि के महाप्रबंधक (कल्याण/सीएसआर), ए.के. सिंह, वेकोलि के कल्याण/सीएसआर विभाग के अधिकारी, डॉ. हेडगेवार ब्लड बैंक, नागपुर के अधिकारी तथा कर्मी प्रमुखता से उपस्थित थे. डॉ हेडगेवार ब्लड बैंक, नागपुर ने वित्तीय सहायता के लिए वेकोलि के प्रति आभार प्रकट किया.

विदित हो कि, Gamma Irradiation रक्त में निष्क्रिय टी-लिम्फोसाइट्स (एक प्रकार की श्वेत रक्त कोशिका जो प्रतिरक्षा प्रणाली का हिस्सा है) पर की जाने वाली एक प्रक्रिया है, जो रक्त के घटकों में मौजूद ट्रांसफ्यूजन से जुड़े ग्राफ्ट बनाम होस्ट रोग (टीए-जीवीएचडी) को रोकने के लिए होती है. 

वेकोलि द्वारा की गई वित्तीय सहायता में Gamma Irradiator (Civil & Electrical), dosimeters, radiation, Survey Meter & other requirements like manpower training and dosimeter testing जैसी आवश्यकताएं शामिल हैं. 
Irradiated blood (विकिरणित रक्त) उन रोगियों में रुग्णता को काफी कम कर देगा, जिन्हें एकाधिक ट्रांसफ्यूजन की आवश्यकता होती है, जैसे कि समय से पहले बच्चे, अंतर्गर्भाशयी और नवजात एक्सचेंज ट्रांसफ्यूजन, प्रतिरक्षा-समझौता रोगी, कीमोथेरेपी, प्लेटलेट और अंग प्रत्यारोपण प्राप्तकर्ता. 

डॉ. हेडगेवार रक्त केंद्र में वेकोलि द्वारा Gamma Irradiation Facility की स्थापना से उपरोक्त वर्णित Irradiated blood (विकिरणित रक्त) रोगियों को टीए-जीएचडी की रोकथाम में काफी मदद मिलेगी. इससे नागपुर और आसपास के जिलों के अस्पतालों को ऐसे रोगियों के लिए उपयुक्त रक्त उपलब्ध हो सकेगा. 

NO COMMENTS