चंद्रपुर-वर्धा-गढ़चिरोली वि.प. चुनाव में भाजपा पकड़ मजबूत करने में सफल

0
1609
Colourful overlapping silhouettes of Hands raised.

राज्य के अन्य पांच चुनाव क्षेत्रों भी मतदान कल सोमवार को, मतगणना होगी 24 को

अश्विन शाह
पुलगांव (वर्धा) :
चंद्रपुर-गढ़चिरोली-वर्धा विधान परिषद सीट के लिए मतदान का समय अब निकट आ गया है. कल सोमवार को सुबह 7 बजे से इन तीनों जिलों के स्थानीय निकायों के जनप्रतिनिधि महाराष्ट्र विधान परिषद के लिए अपने विधायक का चयन करेंगे. इसके लिए अब मतदान के लिए कुछ ही घंटे बचे हैं. इसके बाद उम्मीदवारों के भाग्य मतपेटियों में बंद हो जाएंगे.

इस स्थानीय प्राधिकारी चुनाव क्षेत्र के लिए चंद्रपुर जिले के 8 उपविभागीय कार्यालय में, वर्धा जिले के 3 और गढ़चिरोली जिले के 6 उपविभागीय कार्यालयों में मतदान होंगे. मतगणना 24 मई को होगी.

मुकाबले में हैं भाजपा और कांग्रेस उम्मीदवार
इस सीट से राज्य में सत्तारूढ़ भाजपा ने अपने प्रदेश महामंत्री और आरआरएस के समर्पित कार्यकर्ता डॉ. रामदास आंबटकर को अपना प्रत्याशी बनाया है. जवाब में कांग्रेस ने वर्धा जिले के बुजुर्ग नेता और पूर्व नगराध्यक्ष इन्द्र कुमार सराफ को मुकाबले में उतार दिया है. तीसरे निर्दलीय उम्मीदवार सौरभ तिमांडे हैं, जो एनसीपी से बगावत कर चुनाव में खड़े हो गए हैं. एक अन्य निर्दलीय जगदीश टावरी भाजपा को समर्थन देने की घोषणा कर किनारे हो गए हैं. इस तरह मैदान में भले ही तीन उम्मीदवार हैं, लेकिन मुकाबले की स्थति भाजपा के आंबटकर और सराफ के बीच ही है.

अंतिम क्षणों में “विदर्भ आपला” का सर्वेक्षण
मतदान के मात्र एक दिन पूर्व “विदर्भ आपला” ने तीनों जिलों में दोनों प्रमुख प्रतिद्वंद्वियों (भाजपा और कांग्रेस) की स्थिति का जायजा लेने की कोशिश की है. भाजपा के लिए यह सीट वाकओवर जैसी मानी जा रही थी. लेकिन कांग्रेस सराफ अपना उम्मीदवार बना कर भाजपा के लिए मुश्किलें पैदा कर दी थीं. माना जा रहा था और कांग्रेस का दावा है कि उसने 1062 मतदाताओं वाले इस चुनाव क्षेत्र में 400 से अधिक सीटें पक्की कर ली हैं. शिवसेना और बसपा का समर्थन भी कांग्रेस को ही मिलाने की उम्मीद जताई जा रही है.

भाजपा को 750 मत प्राप्त होने का विशवास
लेकिन ऐसी परिस्थितियों के बीच भाजपा के लिए प्रतिष्ठा की बनी इस सीट के लिए तीनों जिलों के भाजपा विधायकों, मंत्रियों और सांसदों ने एड़ी-चोटी का जोर लगा भाजपा प्रत्याशी की स्थिति सुदृढ़ बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ी है. वर्धा जिला भाजपा अध्यक्ष राजीव बकाने का दावा है कि उनकी पार्टी ने के साथ क्षेत्र के 700 से 750 मतदाताओं का समर्थन प्राप्त हो गया है.

डैमेज कंट्रोल करने में भाजपा सफल
विधान परिषद के लिए नामांकन के पश्चात पिछले दिनों नागपुर में आयोजित बैठक में केंद्रीय मंत्री नितिन गड़करी द्वारा कार्यकर्ताओं को खरी-खरी सुना देने से कई नगरसेवकों में असंतोष को कांग्रेस प्रत्याशी इंद्रकुमार सराफ द्वारा भुनाने में नाकामयाब रहने से भाजपा को होने वाला नुकसान टल गया. भाजपा चुनाव प्रभारी वित्त मंत्री सुधीर मुनगंटीवार और सांसदों एवं विधायकों ने डैमेज कंट्रोल करने सफलता पा ली है.

गढ़चिरोली में विरोधी पक्ष भी भाजपा साथ
गढ़चिरोली में शिवसेना की विद्यार्थी सेना के साथ ही अन्य संगठनों समर्थन प्राप्त कर भारतीय जनता पार्टी नेताओं ने जिले के अनेक विरोधी मतदाताओं को भी अपने समर्थन में कर लिया है. प्राप्त जानकारी के मुताबिक़ गढ़चिरोली जिले में कांग्रेस के सराफ विशेष सफलता नहीं मिल पाई है.

चंद्रपुर में सहानुभूति सराफ को, रुझान आंबटकर की ओर
वहीं चंद्रपुर जिले के कांग्रेस नेताओं में इन्द्र कुमार सराफ के प्रति सहानुभूति का वातावरण तो देखा जा रहा है, लेकिन सूत्रों ने बताया कि जिले कांग्रेस नेता यहां के मतदाताओं पर अपना प्रभाव शायद ही डाल पाएं. राज्य वित्त मंत्री सुधीर मुनगंटीवार और मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस के परिवार का क्षेत्र होने और आरएसएस का जिले में व्यापक प्रभुत्व होने के कारण चंद्रपुर के मतदाताओं का रुझान स्वभाविक रूप से भाजपा उम्मीदवार आंबटकर की ओर ही दिखाई दे रहा है.

वर्धा : विधायक काम्बले, टोकस कर रहीं कांग्रेस के पक्ष में परिश्रम
वर्धा जिले में पुलगांव-देवली के वर्तमान विधायक रणजीत प्रताप काम्बले ने कांग्रेस के लिए प्रचार और संपर्क अपने हाथ में लेकर इन्द्रकुमार सराफ रेस को रेस में लाने में सफल दिखाए दे रहे हैं. आर्वी विधानसभा क्षेत्र के विधायक अमर काले, महाराष्ट्र प्रदेश महिला कांग्रेस की अध्य्क्ष चारू ताई टोकस के साथ मिलकर सराफ के लिए जी तोड़ मेहनत की है.

मेघे सहित भाजपा के अनेक नेता सक्रिय
भारतीय जनता पार्टी की ओर से पूर्व सांसद दत्ता मेघे, वर्तमान सांसद रामदास तदस, वर्धा के विधायक पंकज भोयर, जिला भारतीय जनता पार्टी के अद्यक्ष राजू बकाने, वर्धा नगरपालिका के युवा नगरसेवक प्रदीप सिंह ठाकुर, हिंगणघाट के विधायक समीर कुनवार आदि डॉ. रामदास आंबटकर के लिए पूरे वर्धा जिले में जोरदार प्रचार तथा मतदाताओं से लगातार संपर्क करते देखे गए.

भाजपा को 220 मतों के अंतर से जीत का भरोसा
कुल मिला कर देखा जाए तो मनी पावर ही इस चुनाव के परिणाम को प्रभावित कर सकता है. अन्यथा मदाताओं के संख्या बल को देखा जाए तो चित्र एकदम साफ और सरलता से भारतीय जनता पार्टी के पक्ष में जाता दिखाई दे रहा है. भाजपा कार्यकर्ताओं का मानना है कि हम यह चुनाव लगभग 220 मतों के अंतर से जीत रहे हैं. यह तो चुनाव परिणाम आने पर ही पता चलेगा कि किस पक्ष की मेहनत रंग लाई है, अथवा धन बल ने अपना प्रभुत्व दिखाया है.

वर्धा-चंद्रपुर-गढ़चिरोली सहित राज्य की 6 सीटों के लिए आज मतदान
ज्ञातव्य है कि वर्धा-चंद्रपुर-गढ़चिरोली सहित राज्य के रायगढ़-रत्नागिरी-सिंधुदूर्ग, नासिक,अमरावती, उस्मानाबाद-लातूर-बीड़ और परभणी-हिंगोली स्थानीय स्वराज संस्था मतदाता क्षेत्र से विधान परिषद के सदस्यों के चुनाव कल सोमवार, 21 मई को ही होंगे.

NO COMMENTS