किसान का सिर अलग कर धड़ ले गया नरभक्षी बाघ, अधखाया धड़ बरामद

0
2247

धामणगांव तहसील के मंगरुल दस्तगीर गांव का युवा किसान बना शिकार

अश्विन शाह,
पुलगांव (वर्धा) :
यहां से 15 किलोमीटर अंतर पर अमरावती जिले के धामणगांव तहसील के मंगरुल दस्तगीर गांव में शुक्रवार को एक बाघ युवा किसान राजेन्द्र देवराव निमकर (48) का शिकार कर धड़ लेकर गायब हो गया. देर रात घर वापस नहीं लौटने पर जब गांव वालों के साथ उसके परिजन किसान की खोज में निकले तो रात के 10.30 बजे एक स्थान पर मात्र राजेंद्र का सिर बरामद हुआ.

आज शनिवार को जब फिर उसके धड़ की खोज शुरू हुई तो थोड़ी दूर पर किसान का धड़ तो मिला, लेकिन उसका पृष्ठ भाग बाघ ने खा लिया था. वन विभाग और मंगरुल दस्तगीर पुलिस की संयुक्त खोज अभियान में ग्रामवासी और मृतक राजेंद्र के परिजन भी साथ थे.

इस घटना से परिसर में जबरदस्त खलबली मची हुई है. मृतक राजेन्द्र देवराव निमकर मंगरुल निवासी है. वह जिला परिषद सदस्य सुरेश निमकर का राजेंद्र चचेरा भाई है. उसके गांव से 8 किलोमीटर दूर उसका खेत है. विगत कुछ दिनों से पुलगांव-आर्वी मंगरुल गैरोली चिंचोली झाड़ा आदि गावों में वन विभाग ने किसानों और खेत मजदूरों को बाघ से सतर्क रहने ककी चेतावनी दी थी.

ऐसे में शुक्रवार की शाम को राजेन्द्र अपने खेत पर गया था. शाम ढलने पर जब घर नहीं लौटा तो मंगरुल दस्तगीर पुलिस और वन विभाग के अधिकारियों के साथ परिजन और गांववासी उसे तलाश करने उसके खेत में पहुंचे तो एक स्थान पर राजेंद्र का खून से सना सिर नजर आया. पिछला सिर के नीचे का हिस्सा बाघ चट कर निकल चुका था.

आज शनिवार को वनविभाग और पुलिस द्वारा धड़ की तलाश शुरू की गई. थोड़े अंतर पर मिले धड़ की स्थिति अत्यंत वीभत्स थी.
इस नरभक्षी बाघ की इस वारदात से आसपास के 25 से 30 किलोमीटर तक लोगों में दहशत व्याप्त है.

गौर करने की बात है कि यवतमाल वन विभाग द्वारा नरभक्षी बाघ को पकड़ने के लिए सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा है, किन्तु सफलता कोसों दूर नजर आती है. पैराग्लाइडिंग और ड्रोन कैमरा से लोकेशन लेकर विशेष शूटर की भी मदद ली जा रही है. लेकिन बाघ का कहीं आता-पता नहीं है. इस घटना के बाद वन विभाग के सर्च ऑपरेशन पर भी सवालिया निशान लग गया है.

NO COMMENTS