जब यमराज और चित्रगुप्त ने वाहन चालकों को सिखाया यातायात के नियमों का पालन करना…

0
247

विपेन्द्र कुमार सिंह
नागपुर :
संतरा नगरी के चौक-चौराहों पर आज सोमवार को अचानक यमराज और चित्रगुप्त का अवतरण देख शहरवासी पहले तो चकित रह गए, कुछ दुपहिया और चार पहिया वाहन चालकों ने बहुरुपिया समझ कर उन्हें नजरंदाज करना चाहा, लेकिन वे यमराज और चित्रगुप्त की नजरों से बच नहीं सके, प्यार से रुकने पर मजबूर ही कर दिया.

इसके बाद जब यमराज ने शुरूकर दी भविष्यवाणी- “सिर पर हेलमेट नहीं है, कार चला रहे पर सीट बेल्ट नहीं लगाया, यातायात नियमों का पालन नहीं कर रहे… तुम्हारी तो मृत्यु अटल है बच्चे…!” इसके साथ ही चित्रगुप्त ने शुरू किया उनकी गलतियों का हिसाब लगाना…!

अब वहां चालकों को समझ में आने लगा कि ये यमराज और चन्द्रगुप्त कोई बहुरुपिया नहीं, बल्कि यमराज और चन्द्रगुप्त का रूप धारण कर कोई उन्हें यातायात नियमों का पालन करना सिखा रहा है.

दरअसल वे दोनों थे शहर में मेट्रो रेलवे के काम कर रही नागार्जुना कन्स्ट्रक्शन कंपनी के कर्मचारी. जिन्हें कंपनी ने शहर के विभिन्न चौक-चौराहों पर लोगों में यातायात नियमों के प्रति जागरूकता लाने के लिए यह जनजागृति अभियान के अंतर्गत यमराज और चित्रगुप्त के वेष में उतारा था. इस अभियान के यमराज की वेषभूषा में स्वप्निल बनकर और चित्रगुप्त की वेषभूषा में राहुल नागोड़े ने सफलतापूर्वक अपने कार्य को अंजाम दिया. उनके सहयोगी के रूप में साथ चल रहे उनके अन्य साथियों ने भी वाहन चालकों को यातायात नियमों का पालन करने के लिए प्रेरित किया.

अभियान के सुरक्षा व्यवस्थापक सोम शेखर, सुरक्षा अधिकारी विजय मिश्रा, मेट्रो रेलवे कार्पोरेशन के मुख्य सुरक्षा विशेषज्ञ स्वामीनाथन, सुनील हरिचंदन, राजेश दांडेकर आदि उनके साथ थे.

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY