महाजेनको की बिजली उत्पादन क्षमता बढ़ेगी, संसाधनों की बचत होगी : उर्जा मंत्री बावनकुले

0
578

कोयला व खदानों के पानी के तीन अभिनव विद्युत प्रकल्पों को देश के लिए प्रेरणादायी बताया

नागपुर : पाईप कन्व्हेयर से कोयले की थर्मल स्टेशनों तक ढुलाई से न केवल अधिक उत्तम दर्जे का कोयला महाजेनको को उपलब्ध होगा, बल्कि ढुलाई लागत में कमी साथ ही विद्युत उत्पादन लागत में भी भारी कमी आएगी. यह उदगार यहां महाराष्ट्र के उर्जा मंत्री चंद्रशेखर बावनकुले ने भूमिपूजन समारोह में व्यक्त किए.

पाईप कन्व्हेयर द्वारा कोराडी और खापरखेड़ा को कोयला
उन्होंने कहा कि फिलहाल 6,500 मेगावट क्षमता के थर्मल पावर स्टेशनों के लिए इस योजना साकार किया जा रहा है. वेकोलि की नागपुर जिले की 5 कोयला खदानों से एक साथ पाईप कन्व्हेयर द्वारा कोराडी और खापरखेड़ा थर्मल पावर स्टेशनों को कोयले की आपूर्ति की जाएगी. उन्होंने कहा कि केंद्रीय कोयला मंत्री पीयूष गोयल की पहल से ही देश को यह पहला और प्रेरणादायी प्रकल्प प्राप्त हो रहा है, जिसे अत्याधुनिक पद्धति से रिमोट की सहायता से मॉनेटरिंग करना संभव होगा.

गड़करी ने बावनकुले को उर्जावान उर्जामंत्री बताया
कविवर्य सुरेश भट सभागृह में आयोजित इस प्रकल्प के भूमिपूजन समारोह में बावनकुले बोल रहे थे. मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस और केंद्रीय मंत्री नितिन गड़करी के मार्गदर्शन में महाजेनको के इन तीन महत्वाकांक्षी प्रकल्पों के साकार होने पर बावनकुले ने उनके प्रति आभार व्यक्त किया. केंद्रीय मंत्री गड़करी ने भी अपने भाषण में प्रकल्पों को साकार कराने में चंद्रशेखर बावनकुले की कार्यशैली की प्रशंसा करते हुए उन्हें उर्जावान उर्जामंत्री निरुपित किया.

भांडेवाड़ी से 150 मिलियन घनलिटर पानी निःशुल्क
महाजेनको के तीन प्रकल्पों में नागपुर जिले की भांडेवाड़ी खदान के गंदे पानी को पुनरोपयोग लायक बनाने वाले प्रकल्प से निःशुल्क 150 मिलियन घनलिटर पानी कोराडी और खापरखेडा थर्मल विद्युत को मिलेगा. इससे नाग नदी और गोसीखुर्द जलाशय के पानी के प्रदूषण में कमी होगी. भविष्य में उमरेड के प्रस्तावित थर्मल पावर स्टेशन के लिए भी खदान के गंदे पानी का उपयोग संभव हो पाएगा.

कार्यक्रम का संचालन रेणुका देशकर ने किया. इस अवसर पर कार्यक्रम में उर्जा विभाग के प्रधान सचिव अरविंद सिंह, महाजेनको के अध्यक्ष तथा प्रबंध संचालक बिपिन श्रीमाली, मराविमं सूत्रधारी कंपनी के संचालक विश्वास पाठक, संचालक(प्रकल्प) विकास जयदेव, संचालक(वित्त) संतोष आंबेरकर, महाजेनको के कार्यकारी संचालक, मुख्य अभियंता प्रामुख रूप से उपस्थित थे. कार्यक्रम में महाजेनको, वेकोलि, महामेट्रो, रेल्वे और नागपुर महानगर पालिका के अधिकारी भी उपस्थित थे.

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY