मराठी भाषा ने तेलुगू को पीछे छोड़ा, सर्वाधिक अंग्रेजी भाषी महाराष्ट्र में

0
3883

तीसरे क्रमांक पर आई मराठी, दूसरे क्रम में बांग्ला कायम, हिंदी सर्वाधिक लोगों की भाषा

नई दिल्ली : देश में सबसे ज्यादा बोली जाने वाली भाषा हिंदी है. 2011 के जनगणना के आधार पर भारतीयों भाषाओं के आंकड़े के अनुसार 43.63 प्रतिशत लोगों की मातृभाषा हिंदी है। 2001 के जनगणना के मुकाबले हिंदी को अपनी मातृभाषा बताने वालों की संख्या बढ़ी है. अंग्रेजी को अपनी मातृभाषा बताने वाले सबसे अधिक लोग महाराष्ट्र में हैं. तमिलनाडु और कर्नाटक इस मामले में क्रमश: दूसरे और तीसरे नंबर पर हैं.

हिंदी के बाद सर्वाधिक बंगाली (बांग्ला) भाषा बोलने वालों के कारण यह दूसरे नंबर पर बरकरार है. वहीं तेलुगू भाषा को पीछे छोड़कर मराठी तीसरे नंबर की बोले जाने वाली भाषा बन गई है. देश में 22 भाषाओं में संस्कृत सबसे कम बोली जाने वाली भाषा है. बोडो, मणिपुरी, कोंकणी और डोगरी भाषा से भी कम हैं.

2011 जनगणना के अनुसार गैर-सूचीबद्ध भाषाओं में लगभग 2.6 लाख लोगों ने अंग्रेजी को अपनी मातृभाषा बताया. इनमें से सबसे अधिक 1.06 लाख लोग महाराष्ट्र में हैं. तमिलनाडु और कर्नाटक इस मामले में क्रमश: दूसरे और तीसरे नंबर पर हैं.

NO COMMENTS