बुटीबोरी 5सितारा औद्योगिक क्षेत्र अब बनेगा नगर परिषद, जल्द होंगे चुनाव

0
685

नहीं रहेगा अब नागपुर मेट्रोपोलिटन रीजन डेवलपमेंट का हिस्सा

नागपुर : नागपुर के 5 सितारा औद्योगिक क्षेत्र बुटीबोरी अब नागपुर मेट्रोपोलिटन रीजन डेवलपमेंट का हिस्सा नहीं रहेगा. नागपुर से 26 किलोमीटर पर स्थित 40,000 की जनसंख्या वाली बुटीबोरी ग्रामपंचायत को महाराष्ट्र सरकार जल्द ही म्युनिसिपल काउंसिल (नगर परिषद) का दर्जा देने जा रही है. बुटीबोरी नगर परिषद में आस-पास के अन्य कुछ गांवों को भी शामिल किया जाना है.

नए बुटीबोरी नगर परिषद के चुनाव भी शीघ्र

समझा जाता है कि आगामी जून महीने में जब जिला परिषद के चुनाव होंगे, तभी बुटीबोरी नगर परिषद के चुनाव भी कराए जाएंगे. कुछ ही दिनों पूर्व राज्य चुनाव आयोग ने जिला परिषदों और पंचायत समितियों की चुनाव प्रक्रिया शुरू कर दी है, इसमें बुटीबोरी भी शामिल है. नागपुर जिला परिषद ने चुनाव आयोग को बुटीबोरी की जनसंख्या और एरिया (क्षेत्रफल) की जानकारी दे दी है. समझा जाता है कि बुटीबोरी के परिसीमन के साथ ही इस नए नगर परिषद के चुनाव भी कराएगा.

खुशी के साथ गम भी लेकर आई है यह खबर

बुटीबोरी को नगर परिषद का दर्जा प्राप्त हो जाने के बाद इसे विकास के लिए राज्य शासन से अधिक अनुदान मिलेगा. साथ ही बुटीबोरी को केंद्र सरकार की अनेक विकास योजनाओं जैसे अमृत, स्मार्ट सिटी मिशन और एनयूएचएम के अनुदान की बड़ी निधि सीधे प्राप्त हो सकेगी. लेकिन साथ ही बुटीबोरी के नागरिकों और उद्यमियों के लिए बुरी खबर यह भी है कि उन्हें अब पहले से कहीं बहुत ज्यादा टैक्स (कर) देना पड़ेगा. साथ ही नागपुर मेट्रोपोलिटन रीजन डेवलपमेंट का हिस्सा बने रहने से इसके नागपुर शहर क्षेत्र में विलय की संभावना अब धूमिल गई है.

अलग कर दिया एनएमआरडीए से बुटीबोरी को

पूरे सात वर्ष लगे थे नागपुर सुधार प्रन्यास (एनआईटी) को जिस विकास योजना को तैयार करने में और हाल के महीनों में ही सरकार ने जिस मेट्रोपोलिटन रीजन की विकास योजना (डीपी) को मंजूर किया था, उसमें बुटीबोरी को भी शामिल किया गया था और साथ ही इसे मेट्रोपोलिटन रीजन एरिया के 9 ग्रोथ सेंटर्स में शामिल भी किया गया था. किन्तु अब इसे मेट्रोपोलिटन रीजन उससे हटा दिया गया है.

बुटीबोरी अब मेट्रोपोलिटन रीजन का हिस्सा नहीं

नागपुर मेट्रोपोलिटन रीजन डेवलपमेंट अथॉरिटी (एनएमआरडीए) के आयुक्त दीपक म्हैसकर ने इस बात की पुष्टि की है कि अब बुटीबोरी मेट्रोपोलिटन रीजन का हिस्सा नहीं रह पाएगा. उन्होंने बताया कि हमने बुटीबोरी के लिए सिस्टमेटिक डेवलपमेंट योजना तैयार की थी. अब बुटीबोरी के नए नगर परिषद पर निर्भर होगा कि वह इस योजना को लागू करेगी अथवा खारिज कर देगी.

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY