विरोध प्रदर्शन : ईपीएफओ के समक्ष ईपीएस-95 पेंशनरों का

0
948
विरोध प्रदर्शन

नागपुर : ईपीएस-95 पेंशनर हजारों की संख्या में गुरुवार, 25 अगस्त 2022 को क्षेत्रीय कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) के 132 रिज रोड, तुकड़ोजी प्रतिमा चौक के पास, रघुजी नगर, नागपुर-9 के कार्यालय के सामने विरोध प्रदर्शन करेंगे.

विरोध प्रदर्शन कार्यक्रम में निवृत्त कर्मचारी (1995) राष्ट्रीय समन्वय समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रकाश येंडे, राष्ट्रीय महासचिव प्रकाश पाठक, राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष भीमराव डोंगरे, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष पुंडलिक पांडे, राष्ट्रीय कानूनी सलाहकार दादा झोड़े, राष्ट्रीय सचिव श्याम देशमुख एवं नागपुर शाखा अध्यक्ष प्रभाकर खोंडे, राष्ट्रीय संगठन सचिव महमूद यूनुस, राष्ट्रीय सचिव अनिल कुसरे और राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष अरुण कारमोर की उपस्थिति रहेगी.

इस अवसर पर विभिन्न राष्ट्रीय श्रमिक संगठनों के नेताओं में मोहन शर्मा राष्ट्रीय सचिव एआईटीसी, श्रीमती अर्चनाताई भोमले इंटक, श्रीमती नीता चौबे राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बी.एम.एस. भी भाग लेंगे. प्रदर्शन में अन्य राष्ट्रीय संगठनों के प्रतिनिधियों के साथ-साथ ईपीएस 95 अखिल भारतीय पेंशनभोगी कल्याण संघ चेन्नई, राज्य परिवहन सेवानिवृत्त कर्मचारी संघ महाराष्ट्र, पेंशन भोगी संघ कोल्हापुर, महाराष्ट्र राज्य पेंशन भोगी संघ अहमदनगर और अन्य सभी संगठनों का प्रतिनिधित्व रहेगा.

पिछले 27 वर्षों से ईपीएस95 पेंशनरों के पेंशन में एक पैसे की भी वृद्धि नहीं करने, कोरोना जैसी महामारी के दौरान भी सरकार द्वारा पेंशनरों को कोइ राहत नहीं देने, भगत सिंह कोशियारी कमेटी की पेंशन सुधार रिपोर्ट 2013 लागू नहीं करने, न्यूनतम पेंशन 9,000 रुपए और महंगाई भत्ता लागू करने की मांग पूरी नहीं करने को लेकर प्रदर्शन किया जाएगा.

ईपीएस 95 पेंशनरों के लिए सुप्रीम कोर्ट के दिनांक 4-10-2016 के फैसले और तदनुसार मुख्य आयुक्त, भविष्य निधि कार्यालय, नई दिल्ली का 23.3.2017 के परिपत्र के आधार पर लगभग 27 हजार पेंशन भोगियों को संशोधित पेंशन देना शुरू करने के बाद उसे रोक देना जैसे कदमों का विरोध किया जाएगा.

उल्लेखनीय है कि कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) के पास पेंशनरों की 52 हजार करोड़ रुपए की निधि लावारिस पड़ी है. लेकिन, बावजूद इसके पेंशनरों को स्वास्थ्य सुविधाओं से भी वंचित रखा जा रहा है.

विरोध प्रदर्शन दौरान ईपीएफओ के क्षेत्रीय भविष्य निधि आयुक्त के माध्यम से प्रधानमंत्री को निवेदन सौंपा जाएगा. निवेदन में ईपीएस 95 पेंशनरों के लिए किए गए वाडे की याद उन्हें दिलाई जाएगा और मांग की जाएगी कि जल्द से जल्द पेंशनरों को न्यूनतम 9,000 रुपए मासिक पेंशन और महंगाई भत्ते के साथ निःशुल्क स्वास्थ्य सुविधाएं प्रदान की जाए.

निवृत्त कर्मचारी (1995) राष्ट्रीय समन्वय समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रकाश येन्डे ने कहा कि मांगें पूरी नहीं होने पर आगामी 6, 7, 8 दिसंबर, 2022 को नई दिली के जंतर-मंतर और रामलीली मैदान पर देश भर के पेंशनरों द्वारा धरना और उपोषण किया जाएगा. साथ ही संसद भवन के समक्ष भी विरोध प्रदर्शन किया जाएगा.

NO COMMENTS