पुत्र की हत्या में उ.प्र. विधानपरिषद सभापति की पत्नी गिरफ्तार

0
1343
मां मीरा यादव और मृतक पुत्र अभिजीत.

पुलिस की पूछताछ में अंततः कबूला अपराध, दुपट्टे से गला घोंट कर ली थी जान

लखनऊ : उत्तर प्रदेश विधान परिषद के सभापति रमेश यादव के बेटे अभिजीत उर्फ विवेक यादव (23) की हत्या का खुलासा हुआ है. मां मीरा यादव ने ही अभिजीत की दुपट्टे से गला घोंटकर हत्या की थी. पर्यटन विभाग में अधिकारी रहीं मीरा यादव ने पूछताछ में अपना गुनाह कबूल लिया है.

मिली जानकारी के अनुसार रमेश यादव ने दो शादियां की थीं. पहली पत्नी प्रेमा अपने बेटे आशीष के साथ एटा में रहती हैं. दूसरी पत्नी मीरा यादव दो बेटों के साथ लखनऊ के सरकारी आवास में रहती हैं. कहा जा रहा है कि रमेश यादव की दूसरी पत्नी से बातचीत नहीं थी.

पुलिस गिरफ्त में मीडिया से बात करती आरोपी मीरा यादव.

घटनाक्रम की एसएसपी नैथानी ने दी जानकारी
मृतक की मां मीरा यादव द्वारा घटना दी गई जानकारी के अनुसार लखनऊ के एसएसपी कलानिधि नैथानी ने बताया कि अभिजीत नशे का आदी था और प्रतिदिन शराब पीकर मां मीरा देवी के साथ गाली-गलौच व अभद्रता करता था. रविवार रात भी वह शराब पीकर आया और मीरा देवी से गाली-गलौच करने लगा. जिस पर मीरा देवी ने उसे धक्का दे दिया. अभिजीत दीवार से टकराकर गिर गया और फिर उठकर गालियां देने लगा. इस दौरान धक्कामुक्की में अभिजीत दीवार से टकराकर बेहोश हो गया.

ऐसे मां ने की बेटे की हत्या…
इसके बाद मां मीरा यादव ने अपने दुपट्टे से अभिजीत का गला कसकर उसकी हत्या कर दी और वारदात में प्रयुक्त दुपट्टा चूल्हे में जलाकर नाली में फेंक दिया. वहीं, अभिजीत के गले में आए खरोंच के निशान को छिपाने के लिए सफेद क्रीम का इस्तेमाल किया. पुलिस ने चूल्हा व चोटों पर लगाई गई सफेद क्रीम बरामद कर जांच के लिए भेज दी है.

अंतिम संस्कार के लिए लेजाते वक्त पुलिस ने रोका
एसएसपी के अनुसार, परिजन मौत को प्राकृतिक बताकर बैकुण्ठ धाम में अंतिम संस्कार करने जा रहे थे. पुलिस को दोपहर सोशल मीडिया पर मैसेज चलने पर इस घटना की जानकारी हुई. इसके बाद पुलिस हरकत में आई और उन्हें रास्ते में रोका गया और डॉक्टरों का पैनल गठित कर पोस्टमार्टम करवाया गया, जिसमें दम घुटने से मौत होने की बात सामने आई.

पूछताछ में माना कि उसी ने ली जान
पुलिस की पूछताछ में देर रात मां मीरा ने अभिजीत की गला घोंट कर हत्या करने की बात स्वीकार कर ली है. इसके बाद विधान परिषद सभापति के बेटे अभिजीत की हत्या में पुलिस ने अभिजीत की मां मीरा को गिरफ्तार किया. जबकि उनके बड़े बेटे अभिषेक यादव को हिरासत में लिया है. मीरा यादव पर्यटन विभाग में अधिकारी थीं. उन्होंने कुछ दिन पहले ही इस्तीफा दे दिया था. पुलिस के मुताबिक, बेटे अभिजीत की हत्या के बाद मीरा ने घटनास्थल (कमरे) से साक्ष्य मिटाने की कोशिश की थी.

बेटे अभिजीत की हत्या के मामले में आरोपी मां मीरा यादव को लखनऊ के कैंट थाना से कोर्ट भेज कर रिमांड पर ले लिया गया है. इससे पहले सुबह मीरा को विधायक आवास, दारुलशफा से गिरफ्तार कर कैंट थाना लाया गया था. कोर्ट ले जाते समय मीरा ने अपने पहले बयान से मुकरते हुए कहा कि उसे गलत फंसाया गया है. अभिजीत यादव ने फांसी लगाई थी. उसने अभिजीत यादव की हत्या नहीं की है. इस दौरान सभापति रमेश यादव मौजूद थे, हालांकि उन्होंने मीडिया के किसी भी सवाल का कोई जवाब नहीं दिया.

मूल रूप से एटा निवासी विधान परिषद सभापति रमेश यादव का दारुलशफा न्यू बी ब्लाक में आवास है. यहां उनकी दूसरी पत्नी मीरा यादव अपने बेटे अभिजीत और अभिषेक के साथ रहती हैं. अभिजीत बीएससी प्रथम वर्ष का छात्र था. विधायक आवास में अभिजीत की मौत के बाद पुलिस को दोपहर सोशल मीडिया पर मैसेज चलने पर जानकारी हुई. परिजन दोपहर में शव का अंतिम संस्कार करने जा रहे थे. इसी बीच पुलिस ने बीच रास्ते में उन्हें रोक लिया और छानबीन शुरू कर दी.

NO COMMENTS