अधिकारी काम नहीं करते तो उनकी जरूरत क्या है- पालक मंत्री 

0
306
अधिकारी
वर्धा जिला परिषद के सभागार में महाराष्ट्र दिन पर आयोजित जनता दरबार में पालक मंत्री सुनील केदार के साथ मंच पर जिलाधिकारी प्रेरणा देशभ्रतार और अन्य अधिकारीगण.

जनता दरबार में नागरिकों की समस्या ऑन द स्पॉट हल, प्रलंबित मामलों के लिए अधिकारियों को फटकार

*अश्विन शाह-
वर्धा : 1 मई, महाराष्ट्र दिन पर वर्धा जिले में जनता दरबार का आयोजन किया गया. जिले के पालक मंत्री सुनील केदार ने जिला परिषद के सभागार में जनता से सीधे संवाद साधते हुए उनकी समस्या सुनी और समस्या का निराकरण, जो ऑन स्पॉट संभव था, वह किया. साथ ही विविध विभाग के बड़े अधिकारियों को फटकार लगाते हुए कहा कि आपको जनता की सेवा के लिए नौकरी पर रखा गया है. यदि आप जनता की तकलीफ के भागीदार बनते हैं तो प्रशासन में आपकी क्या आवश्यकता है. 


अधिकारी कार्यालय में उपस्थित नहीं रहते

जनता दरबार में नागरिकों ने अपनी शिकायत और समस्या से पालक मंत्री को अवगत कराया. पालक मंत्री के समक्ष समस्या रखते हुए कई लोगों ने बताया कि बार-बार अधिकारी के कार्यालय के चक्कर काटने पड़ते हैं. अधिकारी कार्यालय में उपस्थित नहीं रहते और ऐसे अधिकारी के अधीन कार्य करने वाले कर्मचारी सीधे मुंह बात भी नहीं करते. यह सुनकर पालक मंत्री ने जिलाधिकारी प्रेरणा देशभ्रतार की उपस्थिति में अन्य विभाग के अधिकारियों की क्लास ले डाली.

उन्होंने जिले सभी विभागों के अधिकारी से अपील की कि वे आम लोगों की तकलीफें दूर करने के लिए तत्पर रहें. पालक मंत्री ने कहा की जिन लोगों की समस्या इस जनता दरबार में लंबित रह गई है, उनकी समस्या जल्द से जल्द अधिकारी दूर करें और अगले जनता दरबार में उसकी जानकारी दें.
 
राज्य में महाविकास आघाड़ी सरकार के सत्ता में आने के पश्चात वर्धा जिले के पालक मंत्री सुनील केदार ने महाराष्ट्र दिन के अवसर पर जनता दरबार लेकर आम जनता को विशवास दिलाया कि सरकार जनता की समस्या सुलझाने के लिए कटिबद्ध है. 

वर्धा जिले के इस जनता दरबार में जिले के विभिन्न तहसीलों के नागरिक अलग-अलग विभागों से संबंधित अपनी शिकायत और समस्या के साथ उपस्थित हुए. जिले के सभी शासकीय विभागों के अधिकारी भी उपस्थित थे.

NO COMMENTS