महाराष्ट्र के पूर्व डीजीपी अरविंद इनामदार नहीं रहे

0
87
अरविंद इनामदार

मुंबई : महाराष्ट्र के पूर्व पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) अरविंद इनामदार का आज शुक्रवार, 8 नवंबर को निधन हो गया. वे 79 वर्ष के थे. उन्होंने अक्टूबर 1997 से जनवरी 2000 के बीच महाराष्ट्र के पुलिस महानिदेशक के रूप में कार्य किया.

लम्बे समय से बीमार स्व. इनामदार का इलाज यहां के हरकिशनदास अस्पताल में चल रहा था. उन्होंने अस्पताल में ही शुक्रवार की रात 2.20 बजे अंतिम सांसें लीं. निधन के पश्चात उनका पार्थिव शरीर मंत्रालय के निकट शलाका स्थित उनके निवास स्थान पर लोगों के अंतिम दर्शन के लिए रखा गया है. पारिवारिक सूत्रों के अनुसार उनका अंतिम संस्कार अपराह्न समय मरीन ड्राइव स्थित चंदनवाड़ी श्मशान भूमि में किया जाएगा.

स्व. इनामदार की पहचान एक सक्षम, कुशल और कर्त्तव्यनिष्ठ पुलिस अधिकारी के रूप में थी. उन्होंने नागपुर के पुलिस कमिश्नर के साथ ही राज्य के अनेक जिलों और अनेक पदों पर अपनी सेवाएं प्रदान की थीं. नासिक पुलिस प्रशिक्षण में अपनी लम्बी सेवाओं के दौरान उन्होंने पुलिस प्रशिक्षण को एक नई दिशा दी थी. उन्होंने वर्ष 1983 में शहर को अपराध से निजात दिलाने वाले मुठभेड़ विशेषज्ञ पुलिस कर्मियों को प्रशिक्षित किया था जिन्होंने संगठित अपराध को नियंत्रित करने में अहम भूमिका निभाई थी.

इनामदार को जुलाई 1994 के सनसनीखेज जलगांव सेक्स प्रकरण और मानव तस्करी मामले में अपनी जांच के लिए जाना जाता है. उन्होंने अक्टूबर 1997 से जनवरी 2000 के बीच पुलिस महानिदेशक के रूप में कार्य किया.

उन्होंने वर्ष 1983 में शहर को अपराध से निजात दिलाने वाले मुठभेड़ विशेषज्ञ पुलिस कर्मियों को प्रशिक्षित किया था, जिन्होंने संगठित अपराध को नियंत्रित करने में अहम भूमिका निभाई थी. अधिकारी ने बताया कि पिछले कुछ सालों से इनामदार अपने “अरविंद इनामदार फाउंडेशन” के माध्यम से सभी रैंकों के सेवानिवृत्त पुलिसकर्मियों को सम्मानित किया करते थे. साहित्य के क्षेत्र में भी स्व.इमानदार ने अपनी पहचान बनाई थीं.

NO COMMENTS