मुजफ्फरपुर शेल्टर होम : ब्रजेश ठाकुर के खिलाफ एक और एफआईआर दर्ज

0
357

छापे में मिली डायरी में उन 40 लोगों के नंबर हैं, जिनके संपर्क में था आरोपी

सीमा सिन्हा
पटना :
बिहार के सभी जिलों के जेलों में विशेष अभियान के तहत शनिवार को औचक छापेमारी के दौरान मुजफ्फरपुर के खुदीराम बोस सेंट्रल जेल के मेडिकल वार्ड में भर्ती ब्रजेश ठाकुर के बिस्तर के नीचे से एक ऐसी डायरी मिली, जिसमें कथित तौर पर उन 40 लोगों के नंबर हैं, जिनके साथ वह लगातार संपर्क में था. इस डायरी में दर्ज नंबरों के आधार पर ठाकुर के अलावा अज्ञात के खिलाफ मिठनपुरा थाने में सीबीआई की ओर से एक और एफआई दर्ज कराई गई है.

शनिवार को विशेष अभियान के तहत बिहार के सभी जिलों में स्थित जेलों में औचक छापेमारी की गई थी. मुजफ्फरपुर सेंट्रल जेल के मेडिकल वार्ड में भर्ती ब्रजेश ठाकुर को इसकी भनक भी नहीं थी और अचानक हुई छापेमारी के दौरान उसके बिस्तर के नीचे से डायरी मिली. हालांकि छापेमार दस्ते को उसके कब्जे से कोई मोबाइल फोन नहीं मिला. सूत्रों के मुताबिक ब्रजेश ठाकुर ने यह बताने से इनकार कर दिया कि उसने डायरी में लोगों के नाम क्यों लिखे थे और क्या वह इन लोगों से जेल के भीतर से संपर्क में था.

ब्रजेश ठाकुर मुजफ्फरपुर बालिका गृह यौन उत्पीड़न कांड का मुख्य आरोपी है. इस बालिका गृह का संचालन उसी के संरक्षण में चल रहे एनजीओ सेवा संकल्प एवं विकास समिति के जरिए हो रहा था. 26 जुलाई को राज्य सरकार ने इस मामले की जांच की जिम्मेदारी केंद्रीय एजेंसी सीबीआई को सौंप दी थी. सीबीआई ने ब्रजेश ठाकुर के एनजीओ और उसके अधिकारियों की चल -अचल संपत्ति की बिक्री पर रोक लगा दी है.

NO COMMENTS