वर्धा में ‘सेव मेरिट-सेव नेशन’ सभा और विशाल रैली

0
1014
रैली

*आश्विन शाह,
वर्धा :
“सेव मेरिट-सेव नेशन” अभियान के अंतर्गत रविवार, 30 जून को यहां विशाल जनसभा और रैली का आयोजन किया गया. सरकार की आरक्षण नीति के विरोध में वर्धा में सुबह 8 बजे स्थानीय स्वाध्याय मन्दिर परिसर से एक विशाल रैली निकाली गई.

रैली में भारी संख्या में समाज के सभी वर्ग के नागरिक शामिल हुए. वंजारी चौक, पावड़े नर्सिंग होम चौक, शिवाजी चौक, बड़े चौक, सोसलिस्ट चौक और इंदिरा मार्केट चौक होते हुए वापस स्वाध्याय मंदिर पहुंची. रैली यहां सभा में परिवर्तित हो गई. रैली इतनी विशाल थी कि जब इसका प्रारम्भिक छोर सोसलिस्ट चौक में था और अंतिम छोर 1 किलोमीटर दूर शिवाजी चौक तक था.
रैली
रैली में स्वस्फूर्त हजारों लोग शामिल हुए. हिन्दू, मुस्लिम, सिख, ईसाई, जैन, मारवाड़ी, पंजाबी, सिन्धी, अग्रवाल आदि समाज के पुरुष, महिलाएं बड़ी संख्या में “सेव मेरिट-सेव नेशन” का नारा लगा रहे थे. कॉलेज और स्कूली छात्रों का भी रैली में बड़ी संख्या में समावेश था.

उल्लेखनीय है कि वर्धा के व्यापारियों ने इस अभियान के समर्थन में स्वस्फूर्त दोपहर 12 बजे तक अपना कारोबार बंद रखा. रैली में पुलगांव, हिंगणघाट, सेलू, समुद्रपुर, आर्वी, गोंदिया, नागपुर, और अमरावती से भी बड़ी संख्या में में नागरिक उपस्थित हुए.

सभा में नागपुर से आये डॉ अनिल जी लद्दड़ ने कहा कि सरकार की आरक्षण नीति के चलते पढ़े-लिखे मेधावी छात्रों के साथ शिक्षा के क्षेत्र में भी अन्याय हो रहा है. आरक्षण नीति के चलते उन्हें अच्छी शिक्षण संस्थाओं में प्रवेश से वंचित होना पड़ रहा है. उनका कहना था कि जिन्हें आरक्षण दिया जा रहा, उसका हम विरोध नहीं करते. किन्तु ओपन कैटेगिरी में उनका अतिक्रमण असहनीय है. डॉ. लद्दड़ ने कहा कि सरकार वोट के राजनीति से इसे दूर रखे, तभी समाज खुशाल रह सकता है.
रैली
सभा के आरंभ में प्रास्ताविक सुनील कालरा ने किया. संचालन प्रो. अरविंद भाई द्रोण ने किया. सभा के बाद इस आशय का एक निवेदन केंद्र सरकार की ओर से सांसद रामदास जी तड़स ने स्वीकार किया. महाराष्ट्र सरकार की ओर से विद्यायक पंकज भोयर और शिवसेना जिला प्रमुख राजेश सराफ ने निवेदन स्वीकार किया. “सेव मेरिट-सेव नेशन समिति” के सुनील पटेल, मोहता आदि ने सांसद एवं विधायक को निवेदन दिया.

NO COMMENTS