नहीं पता चल पाया है जब्त 10 करोड़ रुपए का राज

0
88

अदीलाबाद टोल नाके पर नागपुर से आ रही कार में मिले थे, दो गिरफ्तार

हैदराबाद (तेलंगणा) : अदीलाबाद में पकड़े गए नागपुर से एक कार से लेकर कर्नाटक जा रहे 10 करोड़ रुपयों के बारे में अब तक पता नहीं चला है कि इतनी बड़ी रकम आखिर किस उद्देश्य से और किसके पास भेजी जा रही थी. पिछले शुक्रवार, 19 अक्टूबर को इस रकम के साथ पकड़े गए दो लोगों से पुलिस को कोई विशेष जानकारी नहीं मिल सकी है. उन दोनों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है.

पुलिस को संदेह है कि यह रकम आगामी 7 दिसंबर को होने वाले तेलंगणा विधानसभा चुनाव के लिए किसी राजनीतिक दल की ओर से यहां भेजे गए हैं. अदीलाबाद के पुलिस अधीक्षक विष्णु एस. वारियर ने बताया कि राज्य में विधानसभा चुनाव के मद्देनजर राज्य भर में कड़े पुलिस बंदोबस्त किए गए हैं. उन्होंने कहाकि इस रकम की छानबीन जारी है. पता लगाया जा रहा है कि वास्तव में यह रकम किसके पास से और किसके लिए भेजी गई थी.

ज्ञातव्य है कि महाराष्ट्र सीमा से लगे तेलंगणा के अदीलाबाद जिले के पिप्परवाड़ा टोल नाके पर तैनात पुलिस ने जब नागपुर से आ रही एक कार की जांच की तो उसमें पांच बैग नजर आए. बैगों को खोला गया तो सभी में 500 और 2000 रुपए के नोट भरे हुए थे. कार में सवार दो लोगों के पास से रकम संबंधी न तो कोई कागजात थे और नहीं उन दोनों ने पुलिस को कोई संतोषजनक उत्तर ही दिया. जब्त कार का नंबर कर्नाटक का है.

उन्होंने पुलिस को बताया की हम दोनों बिजनेसमैन हैं और हम दोनों कर्नाटक के एक ही स्थान के रहने वाले हैं. उनका कहना था कि नागपुर से अपने व्यवसाय के पैसे वसूल कर हम अपने घर वापस लौट रहे थे.

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY