राहुल की बचकानी हरकत : पीएम से गले मिले, फिर मारी आंख

0
1887

प्रधानमंत्री को कांग्रेस अध्यक्ष की ‘झप्पी’ पर लोकसभा अध्यक्ष नाराज

नई दिल्ली : लोकसभा में आज शुक्रवार को अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी अपना भाषण खत्म कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से गले मिले और फिर अपने स्थान पर वापस लौटते कर ज्योतिरादित्य सिंधिया की ओर देख मुस्कराते हुए आंख मारी.

स्पीकर ने जताई नाराजगी
सदन में इस प्रकार प्रधानमंत्री से जाकर गले मिलने की राहुल गांधी की बचकानी हरकत पर स्पीकर सुमित्रा महाजन ने नाराजगी जताई है. लोकसभा अध्यक्ष ने कहा कि राहुल का रवैया हैरान करने वाला था. सदन की गरिमा होती है. पीएम कोई आम आदमी नहीं होता है. कांग्रेस अध्यक्ष का बर्ताव ठीक नहीं था.

सदन में ऐसा ड्रामा देखकर मैं भी हैरान : सुमित्रा महाजन
स्पीकर ने कहा, ‘सदन में ऐसा ड्रामा देखकर मैं भी हैरान हो गई. पीएम पद की गरिमा होती है. नरेंद्र मोदी पीएम के तौर पर सदन में बैठे हुए थे. गले मिलने के बाद राहुल ने आंख मारी। यह हरकत भी गलत है.’ लोकसभा अध्यक्ष ने कहा, ‘ये समझ लो कि सदन की गरिमा हमें ही रखनी होगी. कोई बाहर का आकर नहीं रखेगा. हमें बतौर सांसद भी अपनी गरिमा भी रखनी है. मैं चाहती हूं कि सबलोग प्रेम से रहें. मेरे दुश्मन नहीं हैं राहुल जी, बेटे जैसे हैं.’ उन्होंने कहा कि किसी से गले मिलना गलत नहीं है, लेकिन सदन की गरिमा भी बनाए रखनी होती है.

प्रधानमंत्री मोदी भी रह गए चकित
उल्लेखनीय है कि अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान आज दोपहर सदन में एक अजब ही नजारा देखने को मिला. प्रधानमंत्री और भाजपा पर हमला बोलते-बोलते राहुल गांधी जाकर मोदी से गले मिल आए थे. अचानक से कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी के इस हाव-भाव से एक पल के लिए प्रधानमंत्री मोदी भी चकित रह गए. इसके तुरंत बाद मोदी भी राहुल गांधी से हाथ मिलाते हुए उन्हें शुभकामना देते हुए नजर आए.

हिंदू होने का मतलब बताया राहुल ने
मोदी से गले मिलने के बाद राहुल गांधी ने कहा कि हिंदू होने का मतलब यही होता है. इसके बाद अपने स्थान पर लौटते हुए उन्होंने सांसद सिंधिया की ओर देख मुस्कराते हुए आंख मार दी. राहुल गांधी की एक और ऐसी हरकत पर पूरा सदन दंग रह गया.

मुन्ना भाई की पप्पी-झप्पी नहीं चलेगी : हरसिमरत कौर
हालांकि अकाली दल की सांसद हरसिमरत कौर ने इसपर तंज कसते हुए कहा कि यह संसद है, यहां मुन्ना भाई की पप्पी-झप्पी नहीं चलेगी. हरसिमरत कौर ने आगे कहा, ‘अंदर सब ड्रामा था, जब मैंने उनका सारा ड्रामा देखा तो उसके बाद सदन स्थगन के दौरान उनकी तरफ देखकर मुस्कुरा कर मैंने पूछा कि हमको और पंजाबियों को नशा करने वाले, नशेड़ी बोलते हैं, आज कौन सा करके आए हैं. मैंने यह मुस्कुरा कर पूछा, मगर उन्हें समझ तो आई नहीं और सिर्फ मुस्कुराहट दिखी. मैंने एक बार फिर पूछा कि राहुल जी आज कौन सा करके आए हैं? मुझे क्या पता कि यह स्क्रिप्ट लिखी हुई थी, बॉलिवुड से लिखवाई थी, वह सीधे जाकर प्रधानमंत्री पर टूट पड़े.’

NO COMMENTS