इंडियन ओवरसीज बैंक को लगाया पौने तीन करोड़ का चूना

0
1123

फर्जी कागजात और फर्जी आयकर रिटर्न पर ही बैंक ने दे दिए सभी 12 लोगों को कर्ज

नागपुर : फर्जी कागजात पेश कर 12 लोगों ने इंडियन ओवरसीज बैंक की बैद्यनाथ चौक शाखा, नागपुर को करीब पौने तीन करोड़ रुपए का चूना लगा दिया. बैंक अधिकारियों को जब उनके फर्जीवाड़े का पता चला तब उन्होंने इमामवाड़ा पुलिस स्टेशन में सभी 12 कर्जदारों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है.

12 कर्जदारों के नाम
आरोपियों में शबीना अरशद खान, अरशद हसन खान (दोनों पंचशील नगर निवासी), शाहिद अहमद जमील अहमद खान, वसीम अहमद जमील अहमद खान, वकील जमील अहमद खान, रानी वसीम अहमद खान (सभी एकता कॉलनी, यादवनगर), संगीता संजय इटनकर, जयंत धर्मराज इटनकर (दोनों पार्वतीनगर), योगेश महादेव वांढरे (शेषनगर, खरबी), शेख गुफान अली, अफसर अजाम अली (दोनों सिंदीबन कॉलनी, बड़ा ताजबाग के पास) और रेहाना इस्माईल शेख (अजनी रेल्वे क्वॉर्टर) शामिल हैं.

जांच किए बगैर सभी को बैंक ने दे दिए कर्ज
बैंक की ओर से दर्ज शिकायत में बताया गया है कि इन सभी ने बैद्यनाथ चौक स्थित इंडियन ओवरसीज बैंक शाखा से शुभगृह हाऊसिंग लोन अंतर्गत घर खरीदने के नाम पर कर्ज के लिए फर्जी कागजात और फर्जी आयकर रिटर्न प्रस्तुत किए. बैंक अधिकारियों ने भी उन कागजातों और आयकर रिटर्न की जांच किए बगैर सभी 12 लोगों को 2 करोड़ 63 लाख, 78 हजार, 608 रुपए के कर्ज दे दिए. 13 जुलाई 2015 से 29 अप्रैल 2016 तक उन्होंने बैंक के साथ व्यवहार किया. इसके बाद जब उन्होंने व्यवहार बंद कर दिया, तब बैंक अधिकारियों ने जांच शुरू की तो पाया की कर्ज के लिए दिए गए उनके कागजात फर्जी हैं.

इसके बाद बैंक की ओर से देवराव उरकुडाजी मोंदेकर (एकता कॉलनी) ने इमामवाड़ा पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराई. शिकायत की जांच कर इमामवाड़ा पुलिस ने सोमवार को दर्ज किया और आगे की जांच पुलिस उपनिरीक्षक वी.वी. नरवाड़े को सौंप दिया है.

NO COMMENTS