मराठी विश्वविद्यालय की स्थापना एवं मराठी भाषा को अभिजात दर्जा दिलाने की मांग

0
1158

नागपुर : अखिल भारतीय मराठी साहित्य महामण्डल के अध्यक्ष डॉ. श्रीपाद भालचंद्र जोशी ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस से मांग की है कि मराठी भाषा को अभिजात दर्जा दिलाने का प्रयास करें और राज्य में मराठी विश्वविद्यालय की स्थापना करें.

अखिल भारतीय मराठी साहित्य सम्मलेन का आगामी 16 फरवरी से बड़ौदा में शुरू हो रहे 91वें अधिवेशन के उदघाटन के पूर्व उन्होंने मुख्यमंत्री से मराठी विश्वविद्यालय की स्थापना की घोषणा करने की मांग की है. साथ ही उन्होंने सभी मराठी सांसदों, विधायकों, मंत्रियों और मुख्यमंत्री से मराठी भाषा को अभिजात दर्जा दिलाने के सन्दर्भ में प्रधानमंत्री से आग्रह करने की भी मांग की है.

डॉ. जोशी ने कहा है कि ये दोनों मांग अखिल भारतीय मराठी साहित्य महामण्डल की ओर से अनेक वर्षों से उठाई जा रही है. अखिल भारतीय मराठी साहित्य सम्मलेन के 90वें अधिवेशन के दौरान भी मराठी भाषा को अभिजात दर्जा दिलाने के लिए प्रधानमंत्री से मिलने वाले शिष्टमंडल का नेतृत्व मुख्यमंत्री से करने का आग्रह किया गया था. उन्होंने कहा कि चूकि मराठी विश्विद्यालय की स्थापना राज्य सरकार के अधिकार क्षेत्र में आता है, अतः मुख्यमंत्री सम्मलेन शुरू होने से पूर्व इसकी स्थापना की घोषणा कर हमें सम्मलेन में केंद्र और राज्य सरकारों के प्रति अभिनन्दन प्रस्ताव पारित करने का अवसर दें.

NO COMMENTS