कोयला संकट : महाराष्ट्र में बिजली गुल होने की आशंका

0
502
कोयला संकट

राज्य के थर्मल केंद्रों में कोयले का बचा आधे से दो दिन का स्टॉक

नागपुर : महाराष्ट्र के सभी थर्मल बिजली केंद्र में कोयला संकट गहरा गया है. प्रदेश के थर्मल केंद्रों में आधे से दो दिन के लिए ही पर्याप्त कोयला है. बिजली केंद्र संवेदनशील स्थिति में पहुंच गए हैं. कोयला उपलब्ध नहीं होने से राज्य के विभिन्न बिजली केंद्रों की चार इकाइयों का उत्पादन ठप हो गया है.

अगर कोयले का स्टॉक तीन दिन से कम है तो यह पावर स्टेशन के लिए संवेदनशील स्थिति मानी जाती है. प्रदेश के सभी बिजली घर इस समय इसी कोयला संकट श्रेणी में हैं. राज्य की शासकीय बिजली निर्माण संस्था महाजेनको के सात थर्मल पावर केंद्रों, एनटीपीसी के एक और निजी क्षेत्र के तीन केंद्र ऐसी ही संकट के शिकार हो गए हैं.

18 रैक के बजाय केवल 10 रैक कोयले की आपूर्ति
महाजेनको के अनुसार, वेस्टर्न कोलफील्ड लि. (वेकोली) कई दिनों से अपेक्षित 18 रैक के बजाय केवल 10 रैक की आपूर्ति कर रहा है. सभी कोयला कंपनियों को प्रतिदिन 25 रैक कोयले की आपूर्ति करने की उम्मीद है. लेकिन फिलहाल में औसतन 18 रैक मिल रहे हैं. इससे केंद्रों में स्टॉक कम हो रहा है.

बारिश से खदानों में कोयला खनन कार्य प्रभावित
इधर वेस्टर्न कोलफील्ड लि. (वेकोलि) सूत्रों ने बताया कि इन दिनों की भारी बारिश से खदानों में कोयला खनन कार्य प्रभावित हुआ है. अनेक कोयला खदानों में पानी भर गया है. बड़ी मशीनें पानी में डूब गईं हैं. इसके कारण कोयले का उत्पादन घटा है. इससे उपभोक्ताओं को अपेक्षित मात्रा में कोयले की आपूर्ति प्रभावित हुई है. फिर भी कंपनी उपलब्ध संसाधनों का उपयोग कर कोयला खनन का कार्य सुचारू करने का प्रयास कर रही है.

पावर स्टेशन में कोयले की स्थिति
(केंद्र में उपलब्ध स्टॉक)

खापरखेड़ा- 0.5 दिन
कोराडी- 2 दिन
चंद्रपुर- 1.5 दिन
नासिक- 1.5 दिन
पारस- 1.25 दिन
परली- 1.75 दिन
भुसावल- 1 दिन

एनटीपीसी, निजी क्षेत्र भी प्रभावित होगा
मौदा के एनटीपीसी केंद्र की एक इकाई प्रभावित कोयला संकट के कारण जाम है. निजी क्षेत्र भी प्रभावित हुआ है. अडानी के तिरोड़ा बिजली संयंत्र में उत्पादन में गिरावट आई है. रतन इंडिया की एक इकाई और सीजीपीएल की दो इकाइयों को बंद करना पड़ा.  

उधर, गैस आधारित उरण बिजली परियोजना की एक इकाई भी गैस की कमी के कारण बंद है.

कोयले की अनुपलब्धता के कारण चंद्रपुर में यूनिट नंबर 4, नासिक में यूनिट नंबर 5 और खापरखेड़ा में यूनिट नंबर 1 और 2 को बंद कर दिया गया है. कोराडी में एक इकाई आपातकालीन कारणों से बंद है.  

NO COMMENTS