पकोड़ा दिवस पूरे विश्व में मनाया सिंधी समाज ने

0
2431
पकोड़ा

घर-घर बनाए गए एक से बढ़ कर एक और तरह-तरह के पकोड़े

नागपुर : विश्व भर के सिंधी समाज ने अपनी सांस्कृतिक और सामाजिक पहचान बनाए रखने के उद्देश्य से सोमवार को ‘विश्व पकोड़ा दिवस’ मनाया. जहां-जहां सिंधी समाज बसा है, वहां-वहां सोमवार, 5 जुलाई को सिंधी परिवारों ने करीब 36 टाइप के पकोड़े बनाए और अन्य समाज के लोगों में वितरित किए.
पकोड़ा
नागपुर में भी विश्व सिंधी सेवा संगम के तत्वावधान में संगम की महिला टीमों ने इस आयोजन में पूरे उत्साह के साथ हिस्सा लिया. संगम के महाराष्ट्र प्रदेश अध्यक्ष प्रताप मोटवानी ने बताया कि नागपुर में संगठन की की सभी महिला टीमों ने पकोड़ों की प्रतियोगिताओं में भाग लिया. बेहद उत्साह और उमंग से सभी टीम ने एक से बढ़ कर एक टाइप के पकोड़े बना कर सभी को बेहद प्रभावित किया. मोटवानी ने बताया कि बेहतर पकोड़े बनाने वाली टीमों को पुरस्कार और सर्टिफिकेट प्रदान किए गए.
पकोड़ा
कार्यक्रम संयोजक डॉ. भाग्यश्री खेमचंदानी और सहसंयोजक रीथ रूपानी ने बताया कि पकोड़ा कांपटीशन में संगम की महाराष्ट्र महिला टीम अध्यक्ष डॉ. हिना मुनियार, कार्याध्यक्ष डॉ. भाग्यश्री खेमचंदानी, महासचिव सुनीता जेसवानी, युवा महिला टीम अध्यक्ष रीथ रूपानी, कार्याध्यक्ष डॉ. रिचा सुगंध, महासचिव शिल्पा तलरेजा, निशिता ठाकुर, दिया नाथानी, विदर्भ महिला टीम से मोनिका मेठवानी और कशिश सच्चानी, नागपुर शहर महिला टीम की अध्यक्ष सुनीता बजाज महासचिव पूजा मोरयानी, दिव्या जगुजा, पूर्व नागपुर महिला टीम की अध्यक्ष अर्चना छाबरिया, वरिष्ठ उपाध्यक्ष हितिशा मुलतानी, कंचन चंदवानी, नार्थ नागपुर की महिला टीम अध्यक्ष भूमिका प्रेमानी, किरण जीवनानी, मध्य नागपुर महिला टीम किरण तोतवानी, विधि ग्वालानी, नार्थ ईस्ट की अध्यक्ष वंदना वटियानी, हीर आहूजा, युवा टीम पूर्व नागपुर धुर्वी मोटवानी ने सहयोग किया.
पकोड़ा
कार्यक्रम में बतौर अतिथि राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एडवोकेट मीरा भम्भवानी, विदर्भ पुरुषों की टीम के अध्यक्ष नरेश जुम्मानी, नागपुर जिला पुरुष टीम अध्यक्ष मनोहरलाल आहूजा, उपाध्यक्ष इंद्रलाल धनकानी, अशोक ददलानी, शंकर वलेचा, नागपुर पुरुषों की टीम के कार्याध्यक्ष महेश ग्वालानी उपस्थित थे. पकोड़ा प्रतियोगिता के लिए निर्णायक लायन सदस्य समाजसेवी दिव्या जुम्मानी और सोशल वर्कर दीपिका मोटवानी थे.

कार्यक्रम अध्यक्ष प्रताप मोटवानी और सभी अतिथियों ने झूलेलाल भगवान के चित्र पर माल्यार्पण कर दीप प्रज्वलित किया और कार्यक्रम की शुरुआत की. कार्यक्रम में अतिथियों का पुष्पगुच्छ से स्वागत महिलातीम की पदाधिकारियों और सदस्यों ने किया.
पकोड़ा
कार्यक्रम सयोंजक डॉ. भूमिका खेमचंदानी ने बुके देकर प्रताप मोटवानी और रीथ रूपानी ने अधिवक्ता मीरा भम्भवानी का सत्कार किया. अन्य अतिथियों का बुके और शाल पहनाकर सत्कार विद्या बाखरू, मुस्कान ठाकुर, आशा लालवानी,अनिता नागवानी, गीता चावला, भारती कुकरेजा, मुस्कान थारवानी, कोमल चंदवानी, मीता चावला, रिचा वटियानी, भावना दयानी, डिम्पल खेमनंदानी, दिव्या जगुजा, काजल गुरबक्शानी, सिमरन मिहानी, मुस्कान भोजवानी, आशा गोधानी ने किया. निर्णायकों का स्वागत नीता जेसवानी, हर्षा गेहानी, साक्षी लालवानी और वंशिका केसवानी ने किया.

कार्यक्रम का बेहद कुशलता से संचालन करते हुए प्रख्यात एंकर डॉ. रिचा सुगंध ने शुरुआत में अतिथियों का स्वागत अभिननंदन किया  संयोजक डॉ भाग्यश्री ने विश्व पकोड़ा दिवस की विस्तृत जानकारी दी. डॉ.हिना मुनियार एडवोकेट मीरा भम्भवानी, नरेश जुम्मानी, मनोहरलाल आहूजा और महेश ग्वालानी ने सभी को पकोड़ा दिवस की बधाई दी.

कार्यक्रम अध्यक्ष प्रताप मोटवानी ने विश्व पकोड़ा दिवस की बधाई देते हुए ऐतिहासिक यादगार और बेहतरीन प्रोग्राम के आयोजन के लिए सभी का ह्रदय से आभार माना. इस अवसर पर उन्होंने रीथ रूपानी को महाराष्ट्र का कार्यकारी महासचिव और महेश ग्वालानी को शहर का कार्याध्यक्ष नियुक्त करने की घोषणा की

मुम्बई केंद्रीय टीम द्वारा बेस्ट टीम में विदर्भ महिला टीम और नागपुर महिला टीम को वी एस एस एस अवार्ड और शाल पहिनकार सम्मानित किया. मोटवानी ने पकोड़ा प्रतियोगिताओं के विजेताओं को डॉ. हिना मुनियार के सौजन्य से नगद पुरस्कार और मोटवानी के सौजन्य से 3 टीम को बेस्ट परफॉर्मेंस के पुरस्कार दिए गए. अंत में आभार प्रदर्शन संयोजक डॉ. भाग्यश्री खेमचंदानी ने किया और कार्यक्रम का बेहद रोचक अंदाज में संचालन डॉ. रिचा सुगंध ने किया. अंत मे सभी ने विश्व पकोड़ा दिवस के उपलक्ष्य में 56 टाइप के पकोड़ों का आनंद लिया.

NO COMMENTS