ईरान की मिसाइलें झेलती हुई राफेल की पहली खेप पहुंची भारत

0
2600
मिसाइलें
संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) स्थित फ्रांस के अल-धाफ्रा एयरबेस के पास ईरान ने समुद्र में कई मिसाइलें उस समय दागीं, जब भारत आ रहे पांच राफेल विमान भी वहीं थे

यूएई स्थित फ्रांस के अल-धाफ्रा एयरबेस के पास ईरान ने समुद्र में कई मिसाइलें दागीं

 
तेहरान : संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) स्थित फ्रांस के अल-धाफ्रा एयरबेस के पास ईरान ने समुद्र में कई मिसाइलें उस समय दागीं, जब भारत आ रहे पांच राफेल विमान भी वहीं थे और इनके साथ भारतीय पायलट भी मौजूद थे. ईरानी मिसाइलों के खतरे को देखते हुए भारतीय पायलटों को भी सुरक्षित स्थानों पर छिपना पड़ गया. बताया गया कि ईरान वहां मिसाइल परीक्षण कर रहा था. घटना के बाद फ्रांसीसी एयरबेस के साथ ही खाड़ी स्थित अमेरिकी सैन्य अड्डों को भी थोड़ी देर के लिए अलर्ट कर दिया गया था.


अमेरिकी मिलिट्री सेंट्रल कमांड ने इस खबर की पुष्टि करते हुए कहा कि मंगलवार तड़के ईरान ने हरमुज जलसंधि के नजदीक कई बैलिस्टिक मिसाइलें दागीं. ईरान के सरकारी टेलीविजन के मुताबिक, सैन्य अभ्यास के दौरान रिवोल्यूशनरी गार्ड ने मिसाइलों का परीक्षण किया था. ये परीक्षण खाड़ी में फ्रांसीसी और अमेरिकी सैन्य ठिकानों के नजदीक किए गए. कई मिसाइलें समुद्र में गिरती देखी गईं.

मिसाइलें
संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) स्थित फ्रांस के अल-धाफ्रा एयरबेस के पास जब ईरान समुद्र में मिसाइलें दागीं. 

ईरान ने दो दिन पहले ही समुद्र में अपने एक विमानवाहक पोत की प्रतिकृति उतारी थी. सैन्य अभ्यास के दौरान इसे नष्ट किया. ईरानी टीवी ने यह नहीं बताया कि किन मिसाइलों का परीक्षण किया गय. हालांकि, ईरान इस सैन्य अभ्यास से यह संदेश दिया कि अमेरिका उसके निशाने पर है. ईरानी सैन्य अभ्यास और अमेरिकी प्रतिक्रिया से दोनों देशों के बीच युद्ध भड़कने की आशंका बढ़ती जा रही है. पिछले छह महीने के अंदर तनाव बढ़ाने वाली ऐसी दर्जनभर घटनाएं हो चुकी हैं.  


उल्‍लेखनीय है कि भारतीय वायुसेना के बेड़े में पांच सुपरसोनिक राफेल शामिल हो गए हैं. इन फाइटर विमानों की अंबाला एयरबेस पर दोपहर बाद 3.10 बजे हैप्‍पी लैंडिंग हो गई. फ्रांस से करीब सात हजार किलोमीटर की दूरी तय कर पांच राफेल आज भारतीय वायुसेना का हिस्सा बन गए. अंबाला एयरबेस पर लैंड होने के बाद अगला चरण इनमें मिसाइल व अन्य उपकरणों को फिट करना है.

भारतीय वायुसेना का राफेल जेट की पहली खेप आज दोपहर करीब 3:20 बजे अंबाला एयरबेस पहुंच गई. फ्रांस से भारत को मिले राफेल फाइटर जेट्स के पहले बैच ने सोमवार को भारत के लिए उड़ान भरी थी और आज वह पहुंचा है. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने पांचों राफेल जेट के अंबाला पहुंचने की जानकारी दी.

बता दें कि राफेल जेट हवा से जमीन और हवा से हवा में मार करने वाली की मिसाइलें जे जा सकता है. लगातार 10 घंटे उड़ान भर सकता है. एक मिनट में 60,000 फुट की ऊंचाई पर जा सकता है. इसमें हवा में ईंधन भी भरा जा सकता. यह 2130 किलोमी प्रति घंटा की रफ्तार से उड़ने में सक्षम है और  3700 किमी तक इसकी मारक क्षमता है.

-समाचार एजेंसियों के सौजन्य से 

 

NO COMMENTS