विश्वविद्यालयों की सभी परीक्षाएं होंगी, तिथियां तय नहीं : सामंत

0
148
विश्वविद्यालयों
महाराष्ट्र के उच्च एवं तकनीकी शिक्षा मंत्री उदय सामंत एवं कुलाधिपति व राजयपाल भगत सिंह कोशियारी. 

कुलाधिपति कोशियारी ने उपकुलपतियों की बैठक आमंत्रित की, लिए जाएंगे निर्णय

मुंबई : राज्य के सभी शासकीय विश्वविद्यालयों में वर्ष 2020 की सभी ग्रीष्मकालीन परीक्षाएं आयोजित की जाएंगी. यह जानकारी राज्य के उच्च एवं तकनीकी शिक्षा मंत्री उदय सामंत ने दी. लेकिन उन्होंने यह नहीं बताया कि परीक्षाएं कब से शुरू होंगी.

सभी प्रोफेशनल एक्जाम और कॉमन इंट्रेंस टेस्ट भी होंगे
उन्होंने विदर्भ आपला को बताया कि राज्य के सभी विश्वविद्यालयों के उपकुलपतियों और सीईटी सेल प्रमुखों से वीडियो कांफ्रेंसिंग से चर्चा के बाद ग्रीष्मकालीन परीक्षाओं के बारे में निर्णय लिया गया है. सामंत ने कहा कि लॉकडाउन के कारण राज्य में इन परीक्षाओं को लेकर भ्रम की स्थिति बनी हुई थी. सभी आर्ट्स, सायंस और कॉमर्स के साथ ही प्रोफेशनल कोर्स की परीक्षाएं, अमूमन प्रति वर्ष मई-जून में संपन्न हो जाया करती थीं, लेकिन अब इन सभी के साथ कॉमन इंट्रेंस टेस्ट भी होंगे. सामंत ने बताया कि सभी विश्वविद्यालयों से कहा गया है कि अपने-अपने कैम्पस (परिसर) में वे कोरोना वायरस के परीक्षण की प्रयोगशालाएं भी आरंभ करें.  

कुलाधिपति कोशियारी ने बुलाई बैठक
उल्लेखनीय है कि राज्य के कुलाधिपति और राज्यपाल भगत सिंह कोशियारी ने सभी विश्वविद्यालयों के उपकुलपतियों की बैठक बुलाई है. जिसमें राज्य में आगामी ग्रीष्मकालीन परीक्षाएं संपन्न कराने पर विचार-विमर्श किया जाएगा. ज्ञातव्य है कि राज्य में कोरोना संक्रमण से बिगड़ रही स्थिति के कारण लॉकडाउन है. ऐसे में परीक्षाओं को लेकर ठोस निर्णय लेने और तैयारियों के साथ अनुमानित तिथियां भी निर्धारित करने की जरूरत महसूस की जा रही है.  इसके लिए वैकल्पिक योजनाएं तैयार करने की जरूरत है. सूत्रों ने बताया कि उपकुलपतियों की बैठक में इन सारे पहलुओं पर ठोस फैसले लिए जाएंगे.

नागपुर विश्वविद्यालय का प्रतिनिधित्व डॉ. चांदेकर करेंगे
इस बीच तुकड़ोजी महाराज नागपुर विश्वविद्यालय के उपकुलपति डॉ. एस.पी. काणे का पांच वर्षों का कार्यकाल पूर्ण हो जाने के कारण कुलाधिपति ने उन्हें कार्यमुक्त कर दिया है. उन्होंने 15 अप्रैल 2015 को नागपुर विवि के उपकुलपति का पदभार संभाला था. डॉ. काणे को अपना कार्यभार संत गाडगे बाबा अमरावती विश्वविद्यालय के उपकुलपति डॉ. मुरलीधर चांदेकर को सौंपने को कहा गया था. डॉ. काणे ने अपना कार्यभार सोमवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से डॉ. चांदेकर को सौंप दिया है. अब उपकुलपतियों की बैठक प्रतिनिधित्व भी डॉ. चांदेकर ही करेंगे.

NO COMMENTS