महाराष्ट्र : एसटी बसों में लगेंगे व्हेकिल ट्रैकिंग सिस्टम

0
96
एसटी

6 महीनों में एसटी की सभी बसों को वीटीएस और पीआईएस से लैस किया जाएगा

समाचार माध्यम
मुंबई :
महाराष्ट्र राज्य पथ परिवहन महामण्डल (एमएसआरटीसी) ने एसटी बसों के लिए एक लाइव ट्रैकिंग सिस्टम शुरू किया है, जिससे यात्रियों को अपने आवागमन के बारे में वास्तविक समय की जानकारी मिल जाएगी. वीटीएस (व्हेकिल ट्रैकिंग सिस्टम)- पीआईएस (पैसेंजर्स इन्फॉर्मेशन सिस्टम) के साथ, यात्री यह समझ पाएंगे कि राज्य की बस कहां पहुंच गई है.

34 करोड़ रुपए की लागत
राज्य के परिवहन मंत्री दिवाकर रावते ने वीटीएस और पीआईएस का यहां एक समारोह में उदघाटन किया. रावते ने बताया कि बस के प्रस्थान का वास्तविक समय हर बस में एलसीडी टीवी सेट द्वारा निर्धारित किया जाएगा. उन्होंने बताया कि महाराष्ट्र की बसों में अब यात्रियों को वीटीएस पीआइएस के साथ जीपीएस की सुविधा भी दी जाएगी, साथ ही इससे संबंधित एप भी जल्‍द लॉन्च किया जाएगा. इसमें 34 करोड़ रुपए की लागत आएगी.

उल्लेखनीय है कि महाराष्ट्र स्टेट पथ परिवहन महामंडल के पास 18,000 से अधिक बसें हैं और रोजाना 67 लाख से अधिक यात्रियों इन बसों में सफर करते हैं. मुंबई नासिक रूट की सभी शिवनेरी बसों में जीपीएस मशीनें लगाई गई हैं और अगले 5 से 6 महीनों में एसटी (राज्य परिवहन) की सभी शिवनेरी, शिवशाही, जलद और सामान्य बसों को वीटीएस और पीआईएस से लैस किया जाएगा.

महामंडल के उपाध्यक्ष और प्रबंध निदेशक रंजीत सिंह देओल ने बताया कि पहले चरण में मुंबई तक चलने वाली 3500 बसों में वीटीएस पीआइएस के साथ जीपीएस की सुविधा शुरू की जाएगी. इनमें उन 956 बसों में भी यह सुविधा आरंभ की जाएगी, इनमें मुंबई-पुणे चलने वाली शिवनेरी बसें हैं और वे बसें भी शामिल हैं, जो नासिक डिपो से चलाती हैं.

परिवहन मंत्री ने कहा कि यात्रियों की सुविधा के लिए एक मोबाइल एप्लिकेशन बनाया गया है, जो जल्द ही उपलब्ध होगा. जिससे लोगों को बस की लोकेशन समझने में मदद मिलेगी. उद्घाटन समारोह में एसटी महामंडल के उपाध्यक्ष और प्रबंध निदेशक देओल, महाप्रबंधक राहुल टोरो, उप महाप्रबंधक सुहास जाधव भी उपस्थित थे.

NO COMMENTS