भारत रत्न डॉ. आम्बेडकर को टीम वेकोलि की आदरांजलि

0
243
आम्बेडकर

जीवन आश्रय सेवा संस्था के सहायतार्थ ‘बुद्ध-भीम गीतमाला’ का आयोजन सुरेश भट सभागृह में

नागपुर : वेस्टर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड (वेकोलि) में आज भारतरत्न बाबा साहब डॉ भीमराव आम्बेडकर की जयंती पर टीम वेकोलि के सदस्यों ने उन्हें आदरांजलि अर्पित की. इसके साथ ही शहर में अनेक स्थानों पर संविधान के शिल्पकार डॉ. भीमराव बाबा साहब आम्बेडकर की 128वीं जयंती पर आयोजित किए गए. ऐसा ही एक कार्यक्रम ‘बुद्ध और भीम गीतमाला’ का आयोजन सुरेश भट सभागृह में भी किया गया.

मुख्यालय में आयोजित समारोह में निदेशक (कार्मिक) डॉ. संजय कुमार, निदेशक (तकनीकी) मनोज कुमार, निदेशक (योजना व परियोजना) अजीत कुमार चौधरी, श्रमिक नेता सर्वश्री एस.क्यू. जमा, सी.जे. जोसफ ने बाबा साहब के छाया चित्र पर माल्यार्पण कर उन्हें आदरांजलि अर्पित की.

कार्यक्रम का संचालन एससीएसटी कॉउन्सिल के सम्पर्क अधिकारी अरुणखोब्रागड़े ने किया. इस अवसर पर उपस्थित सभी विभागाध्यक्ष, वरिष्ठ अधिकारी एवं कर्मी गण ने बाबा साहब को नमन किया.
आम्बेडकर
सुरेश भट सभागृह में बुद्ध-भीम गीतमाला का आयोजन
भारतीय संविधान के शिल्पकार भारतरत्न डॉ. बाबासाहेब आम्बेडकर की 128वीं जयंती पर शनिवार, 14 अप्रैल को कविवर सुरेश भट सभागृह में म्यूजिक टाइम आर्केस्ट्रा की ओर से ‘शिल्पकार जगाचा’ (जग के शिल्पकार) कार्यक्रम के अंतर्गत सुमधुर बुद्ध-भीम गीतमाला का आयोजन किया गया. कार्यक्रम की परिकल्पना सुनील गजभिये और मित्रपरिवार की थी.

पार्श्वगायक डॉ. अनिल खोब्रागड़े, पार्श्वगायिका धनश्री बुरबुरे सहित चंद्रपुर की निशा धोंगडे, श्रद्धा यादव, शिलवंत सोनटक्के, गोल्डी हुमने, मनीष राय, मनोज बहादुरे कलाकारों ने बुद्ध गीतऔर भीम गीते प्रस्तुत किए. आकाशवाणी के वरिष्ठ निवेदक अशोक जांभुलकर के निवेदन से कार्यक्रमा की शुरुआत हुई.

शीलवंत ने ‘भीमा तुला वंदना’ गीत के माध्यम से अभिवादन गीत प्रस्तुत किया. धनश्री ने ‘अमृतवाणी ही बुद्धाची’ गीत प्रस्तुत किया. शीलवंत ने ‘ही पाकळी पाकळी’ और मनीष ने ‘चंदनपरी तु झिजला’ गीत गाया. डॉ. अनिल खोब्रागड़े ने ‘भीमा तुझ्या पथावर’‘चंदन वृक्षासमान’ गीत प्रस्तुत कर श्रोताओं का मन मोह लिया. उसके बाद ज्योती भगत मंच के मंच संचालनके तहत गोल्डी हमने ने ’भिमा घे पुन्हा’ और फिर गोल्डी तथा शीलवंत के लिए श्रोताओं में वन्समोर की झड़ी लगा दी. ‘प्रथम नमो गौतमा’, ‘भीमराया घे’ सुमधुर गीत गायकों ने प्रस्तुत किए.

वृद्धाश्रम और सेवाश्रम का संचालन करने वाली जीवन आश्रय सेवा संस्था के सहायतार्थ इस कार्यक्रम का आयोजन किया गया था. कार्यक्रम का संयोजन म्यूजिक टाइम ऑर्केस्ट्रा के शैलेश ढोके, सुनील आर. गजभिये, शैलेश जांभलकर, अनिल सिरसाट, बी.के. सहारे थे.

NO COMMENTS