दो ट्रेन लुटेरों को वर्धा आरपीएफ ने नवजीवन एक्सप्रेस में पकड़ा

0
1770

किया जीआरपी के हवाले, राजनांदगांव के तीन यात्रियों को लूटा था ट्रेन में ही

रवि लाखे
वर्धा :
वर्धा रेलवे सुरक्षा बल (आरपीएफ) के एएसआई सुरेश आस्वले ने अपने दो सहयोगियों की मदद से पिछले रविवार, 24 जून को चेन्नई-अहमदाबाद नवजीवन एक्सप्रेस (12656) के जनरल कोच से दो ट्रेन लुटेरों को गिरफ्तार कर वर्धा जीआरपी को सौंप दिया.

प्राप्त जानकारी के अनुसार 24 जून को ही एएसआई आस्वले अपने सहयोगियों आरक्षक अतुल सावंत और विकास बोरकर के साथ नवजीवन एक्सप्रेस (12655/12656) में ही वर्धा से वरोरा और वरोरा से बडनेरा तक की एस्कॉर्ट ड्यूटी पर थे. वरोरा पहुंचने पर उन्हें पता चला कि उसी ट्रेन में राजनांदगांव के धावड़ टोला निवासी तीन यात्रियों पुरुषोत्तम देवसिंह तारस (32), तरुण जोहरलाल आमिले (31) और जितेंद्र कुमार जायसवाल को दो लोगों ने अपने को पुलिसकर्मी बता कर उन्हें धमकाया और उनसे 13,610 रुपए लूट लिए.

इस सूचना पर उन्होंने नवजीवन एक्स्प्रेस के जनरल कोच में जब तलाश करने पहुंचे तो उन्हें कोच में दो संदिग्ध नजर आए. उनसे पूछताछ के बाद उन्हें अपने कब्जे में लेकर एएसआई आस्वले वर्धा आए और आरपीएफ के नागपुर स्थित मंडल सुरक्षा आयुक्त ज्योति कुमार सतीजा को इसकी जानकारी दी. उनके निर्देश पर दोनों संदिग्ध सागरसिंह वीरसिंह भोंड (22) और कमलसिंह वीरसिंह भोंड (20) को वर्धा शासकीय रेलवे पुलिस (जीआरपी) थाने को सौंप दिया.

जीआरपी थाना प्रभारी सुरेश कांबले और उपनिरीक्षक अश्विनी कुमार बारले ने दो गवाहों के सामने जब दोनों संदिग्धों की तलाशी ली तो उनके पास से एक विवो मोबाइल फोन और 4,300 रुपए नकद सहित एक खाली बोरा बरामद हुआ. दोनों ने राजनांदगांव के उन तीन यात्रियों को लूटने का गुनाह कबूल किया. जीआरपी पुलिस ने उनके विरुद्ध अपराध क्रमांक 470/2018 के तहत भादंवि की धारा 394 और 34 के तहत अपराध दर्ज किया एवं उन्हें गिरफ्तार कर लिया. आगे की जांच जीआरपी पुलिस कर रही है.

NO COMMENTS