कर्नाटक : कल सुबह शपथ लेंगे भाजपा के येदुरप्पा

0
107

भाजपा ‘दक्षिण प्रवेश’ का अपना लक्ष्य साधने में सफल, तोड़फोड़ का लेगी सहारा

बंगलूरु : कर्नाटक में खंडित जनादेश के बाद सरकार बनाने को लेकर सभी अनिश्चितताओं पर विराम लग गया है. राज्यपाल ने सबसे बड़ी पार्टी भाजपा को सरकार बनाने का न्योता दिया है. भाजपा के बी.एस. येदुरप्पा कल सुबह नौ बजे सीएम पद की शपथ लेंगे. भाजपा ने इसकी आधिकारिक जानकारी दी. राज्यपाल ने येदुरप्पा को बहुमत साबित करने के लिए 15 दिन का वक्त दिया है.

गुरुवार को सुबह 9 बजे शपथ लेंगे येदुरप्पा
बीएस येदुरप्पा कल सुबह 9 बजे लेंगे मुख्यमंत्री पद की शपथ, कर्नाटक भाजपा ने ट्वीट कर दी जानकारी. ट्वीट में लिखा- “करोड़ों कर्नाटक निवासियों को जिस दिन का इंतजार था, वह आ गया है. बी.एस. येदुरप्पा कल सुबह नौ बजे राजभवन में मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे. स्वर्ण कर्नाटक बनाने का क्षण आ गया है.”

कर्नाटक में 104 सीटों के साथ भाजपा सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी लेकिन बहुमत के जादुई आंकड़े से 8 सीट पीछे है. कांग्रेस को 78 सीटें मिली है और वह दूसरे नंबर की पार्टी बनी है. जबकि जेडीएस को सिर्फ 38 सीटें मिली हैं, अन्य के खाते में दो सीट हैं.

खरीद-फरोख्त को बढ़ावा : कांग्रेस
कांग्रेस ने कहा कि राज्यपाल वजुभाई वाला कांग्रेस-जदएस गठबंधन को सरकार गठन के लिए आमंत्रित करने को संवैधानिक रूप से बाध्य हैं और अगर वह ऐसा नहीं करते हैं तो यह राज्य में खरीद-फरोख्त को बढ़ावा देना होगा. उसने यह भी कहा है कि अगर राज्यपाल इस गठबंधन को न्योता नहीं देते हैं तो फिर राष्ट्रपति या न्यायालय के पास जाने का विकल्प खुला हुआ है.

फ्लोर टेस्ट के दौरान कांग्रेस के 12 विधायक अनुपस्थित रह सकते हैं
भाजपा ने “दक्षिण प्रवेश” के अपने लक्ष्य को साधने के लिए हर संभव उपाय करने के लिए पूरी तैयारी कर ली है. कर्नाटक में सियासी ड्रामे के बीच बहुत बड़ी खबर यह भी है कि भाजपा के फ्लोर टेस्ट के दौरान कांग्रेस के 12 विधायक अनुपस्थित रह सकते हैं. इनमें से पांच विधायक लिंगायत समुदाय के हैं. 12 विधायकों के इस्तीफा देने से सदन में बहुमत के लिए जरूरी संख्या 112 से 106 हो जाएगी.

कांग्रेस ने अपने विधायकों को बंगलुरु के एक रिजॉर्ट में भेजा
इधर ऐसी संभावनाओं से सावधान कांग्रेस ने अपने विधायकों को बंगलुरु के एक रिजॉर्ट में भेज दिया है. उसने विधायकों को खरीद फरोख्त से बचाने के लिए तैयारी में जुट गई है. भाजपा को मिले सराकर बनाने के न्योते के बाद कांग्रस ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इस फैसले का विरोध किया. कांग्रेस नेता पी. चिदंबरम ने कहा, “जेडीएस और कांग्रेस ने राज्यपाल से मुलाकात कर पूर्ण बहुमत का दावा किया है. हमने सदस्यों के नाम की लिस्ट भी सौंपी है. हमने उन्हें सुप्रीम कोर्ट के फैसले की कॉपी भी सौंपी है. वे संविधान और सुप्रीम कोर्ट के फैसले से बंधे हुए हैं.”

बहुमत साबित करने के लिए 15 दिन का वक्त
भाजपा नेता मुरलीधर राव ने राज्यपाल से मिले न्योते का एलान किया. मुलरीधर राव ने बताया कि कल सुबह गुरुवार, 17 मई को येदुरप्पा का शपथ ग्रहण होगा. राज्यपाल ने येदुरप्पा को बहुमत साबित करने के लिए 15 दिन का वक्त दिया है.

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY