मेलघाट के ढाणा आदिवासी बस्ती में लगी आग से 40 झोपड़ियां राख

0
2228

अचलपुर (अमरावती) : मेलघाट के सेमाडोह गांव के ढाणा बस्ती में आज सुबह 10 बजे लगी आग से करीब 40 झोपड़ियां जलकर राख हो गईं. बताया जाता है कि आग में आदिवासी ग्रामीणों के लगभग 10 लाख रुपए की घरेलू सामग्री जल कर नष्ट हो गईं.

कचरे की ढेर से फैली आग
मेलघाट व्याघ्र प्रकल्प और सिपना वन्यजीव क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले सेमाडोह गांव में यह ढाणा बस्ती है. इस बस्ती में आदिवासियों के कुल 70 घर हैं. यहां उन्हें सरकार ने 20 वर्ष पूर्व बसाया था. बताया जाता है कचरे की ढेर में लगी आग फैली और झोपड़ियों को अपनी चपेट में ले लिया.

अचलपुर और परतवाड़ा से पानी के टैंकर मंगाए गए
उस दौरान बस्ती के लोग अपने-अपने काम पर बाहर निकल गए थे. महिलाएं ईंधन की लकड़ी जुटाने और महुआ के फूल चुनने चली गई थीं. गाँव में उपस्थित लोगों ने आग बुझाने का प्रयास किया, लेकिन आग फैलती की गई. वन विभाग के सूचित कर आग बुझाने के लिए अचलपुर और परतवाड़ा से पानी के टैंकर मंगाए गए. दो घंटे की मशक्क्त के बाद आग पर काबू पाया जा सका.

पालक मंत्री प्रवीण पोटे, विधायक प्रभुदास भिलावेकर पहुंचे
घटना की जानकारी मिलते ही जिले के पालक मंत्री प्रवीण पाटिल पोटे, विधायक प्रभुदास भिलावेकर सहित अचलपुर एवं परतवाड़ा के प्रशासनिक और पुलिस अधिकारी बस्ती में पहुंचे और स्थिति का जायजा लिया. पालक मंत्री पोटे ने अधिकारियों को अग्निपीड़ितों को आवश्यक रहत तत्काल पहुंचाने की हिदायत दी.

NO COMMENTS