विधान भवन पर 1 मई को विदर्भ का झंडा फहराएगी विदर्भ रा.आं. समिति

0
335

14 से 17 अप्रैल तक स्थानीय वसंतराव देशपांडे सभागृह में समिति की राष्ट्रीय प्रतिनिधिसभा

नागपुर : पृथक विदर्भ राज्य आंदोलन को तेज करने के उद्देश्य से विदर्भ राज्य आंदोलन समिति ‘विधान मार्च’ का आयोजन कर आगामी ‘महाराष्ट्र दिवस 1 मई’ को विधान भवन पर विदर्भ का झंडा फहराएगी. साथ ही आगामी सप्ताह 14 से 17 अप्रैल तक स्थानीय वसंतराव देशपांडे सभागृह में समिति की राष्ट्रीय प्रतिनिधि सभा का आयोजन किया जा रहा है. जिसमें विदर्भ के किसानों की समस्या, महिलाओं से संबंधित मुद्दों, बेरोजगारी और विदर्भ में उद्योग-व्यवसाय की बदहाली पर विचार किया जाएगा.

सत्तारूढ़ भाजपा अपने वादे से मुकरती जा रही है
यह जानकारी यहां समिति की ओर से आयोजित पत्रपरिषद में वामनराव चटप, श्रीनिवास ख़ानदेवाले और राम नेवले ने दी. उन्होंने कहा कि राज्य में सत्तारूढ़ भाजपा अपने वादे से मुकरती जा रही है. वह पृथक विदर्भ राज्य की स्थापना की दिशा में कुछ भी नहीं कर रही. साथ ही उसके शासन काल में न किसानों की समस्या दूर हुई है, न बेरोजगारी दूर करने की दिशा में कोई परिणाम सामने आया है. उन्होंने कहा कि इस दौरान विदर्भ की समस्या और बढ़ी है.

विदर्भ के व्यवसायियों की समस्या भी बढ़ी
जीएसटी के कारण विदर्भ के व्यवसायियों की समस्या बढ़ने की ओर ध्यान दिलाते हुए उन्होंने कहा कि किसानों के कर्ज माफ़ करनी दिशा में भी अभी तक विदर्भ के सभी किसानों को न्याय नहीं मिला है. उन्होंने कहाकि देश में महाराष्ट्र ही एक ऐसा राज्य है, जो कर्ज में सर्वाधिक डूबा हुआ है. ऐसे में विदर्भ का विकास महाराष्ट्र में रह कर नहीं हो सकता. इसका एक ही उपाय है कि संसाधनों से परिपूर्ण विदर्भ को अलग राज्य बनाया जाए.

उन्होंने कहा कि आगामी 1 मई को विधान मार्च कर समिति के लोग स्थानीय विधान भवन पहुंचेंगे और विधान भवन पर विदर्भ का झंडा फहरा कर विदर्भ राज्य के आंदोलन को और तेज करेंगे.

NO COMMENTS