नैसर्गिक चमत्कार : रोपा पोटैटो, उग आए टोमैटो

0
1866

नांदगांव खंडेश्वर तहसील के ग्राम चव्हाळा स्थित विनय सव्वालाखे के खेत में हुआ चमत्कार

अमरावती : इसे नैसर्गिक चमत्कार ही माना जा रहा है…! ‘रोपे पेड़ बबूल का तो आम कहां से होय’ …यह कहावत भले ही कभी चरितार्थ न हुआ हो, लेकिन जिले के नांदगांव खंडेश्वर तहसील के ग्राम चव्हाळा स्थित विनय सव्वालाखे के खेत में कुछ ऐसा ही हुआ है. सव्वालाखे ने खेत में बोया तो था आलू (पोटैटो), लेकिन आलू के साथ ही पौधे में टमाटर (टोमैटो) भी फला है!…

सव्वालाखे ने इसकी सूचना कृषि विशेषज्ञों और कृषि विभाग के अधिकारियों को दे दी है. उनकी ओर से फिलहाल इस चमत्कार की जांच होनी बाकी है, लेकिन इस चमत्कार को देख अन्य ग्रामवासी भी चकित हैं.

आलू के पौधे पर टमाटर उगे नजर आए

विनय सव्वालाखे ने बताया कि मंगरुळ चव्हाळा में उनकी १० एकड़ खेती है. जिसमें 500 पौधे नींबू के है. आधी जमीन पर गेहूं बोया गया था, वहीं शेष जमीन पर 12 किलो आलू भी उन्होंने बोया. आलु के पौधे अब बड़े हो गए हैं. उनका निरीक्षण करने विनय जब खेत में पहुंचे तो उन्हें आलू के पौधे पर टमाटर उगे नजर आए.

जड़ में आलू और पौधों पर टमाटर

यह नैसर्गिक चमत्कार देख विनय हक्के-बक्के रह गए. उन्होंने फौरन अपने गांव लोगों को इसकी जानकारी दी और उन्हें आलू के पौधे पर उग आए टमाटर दिखाए. लोगों ने कुछ टमाटर काटकर भी देखे तो वे बिल्कुल टमाटर ही थे. उनका श्वाद भी आलू वर्गीय टमाटर जैसा ही लगा. जब आलू का पौधा उखाड़कर देखा गया तो नीचे जड़ में आलू और पौधों पर टमाटर नजर आए. यह नैसर्गिक करामात देखने वाले भी आश्चर्यचकित होकर दांतों तले उंगली दबाने लगे. उन्होंने टमाटर चखकर देखे और माना कि यह सच है, आलू के पौधे पर टमाटर उग आए हैं.

NO COMMENTS