आईपीसी पुरस्कारों से मुंबई में सम्मानित हुए अंबानगरी के डॉ. सैयद अबरार, पत्रकार सीपी दुबे

0
1943
मुंबई में रविवार, 4 मार्च को महिला व बालविकास कल्याण मंत्री विद्या ठाकुर के साथ आईपीसी पुरस्कार विजेता पत्रकार सीपी दुबे और डॉ. सैयद अबरार. साथ में अमरावती पीस फोरम के इरफान अथर अली.

अमरावती : अंबानगरी अमरावती के दो सपूत मुंबई में देश व दुनिया के विचारवंतों के मंच इंटरनेशनल प्रेस काउंसिल (आईपीसी) द्वारा एक साथ ‘आईपीसी रत्न पुरस्कारों’ से नवाजे गए. जहां चिकित्सा क्षेत्र में अपनी सेवाओं के लिए ख्यातनाम दंतचिकित्सक डॉ. सैयद अबरार को ‘आईपीसी चिकित्सा रत्न’ पुरस्कार और विगत 24 साल से पत्रकारिता के जरिए समाजसेवा का काम कर रहे पत्रकार चंद्रप्रकाश दुबे को ‘प्रिंट मीडिया रत्न’ पुरस्कार मिले.

मुंबई के मलाड (पश्चिम) में एसबी रोड स्थित दुर्गादेवी सराफ हॉल में आयोजित सम्मान समारोह में राज्य की महिला व बालविकास मंत्री विद्या ठाकुर के हाथों राज्य के विभिन्न मान्यवरों का विभिन्न क्षेत्रों में विशेष कार्य उपलब्धि एवं उल्लेखनीय योगदान के लिए आईपीसी रत्न पुरस्कार प्रदान कर सम्मान किया गया, जिसमें अमरावती के डॉ सैयद अबरार तथा पत्रकार चंद्रप्रकाश दुबे का भी समावेश था.

मुंबई स्थित किसी अंतरराष्ट्रीय संस्था द्वारा किसी पुरस्कार के लिए अमरावती के दो लोगों का चयन किए जाने का संभवतः पहला अवसर था. इस अवसर पर अमरावती पीस फोरम के इरफान अथर अली, सैयद असरार, शाहबाज खान, मोहम्मद शोएब, शोएब खान, अधि. अतहर परवेज, राकेश कुमार, सोहेल अहमद आदि उपस्थित थे.

महापंडित राहुल सांस्कृतायन फाऊंडेशन की स्थापना

समारोह में ख्यातनाम शिक्षाविद् श्रीभगवान तिवारी की जीवनी पर विशेष गौरव अंक का विमोचन कर श्रीभगवान तिवारी का गौरवपूर्ण सत्कार किया गया तथा महापंडित राहुल सांस्कृतायन फाऊंडेशन की स्थापना कर फाऊंडेशन द्वारा किए जानेवाले कार्यों की रूपरेखा तय की गई.

कार्यक्रम में संचालन विख्यात शायर व मंच संचालक डॉ. सागर त्रिपाठी व आभार प्रदर्शन आईपीसी के अध्यक्ष डॉ. पी.एस. पाण्डेय ने किया. इस अवसर पर विभिन्न क्षेत्रों के गणमान्यों सहित आईपीसी के पदाधिकारी व सदस्य बड़ी संख्या में उपस्थित थे.

आईपीसी रत्न पुरस्कार से सम्मानित होकर सोमवार 5 मार्च को शहर लौटे डॉ सैय्यद अबरार व पत्रकार सीपी दुबे का यहां के बडनेरा रेल्वे स्टेशन पर मित्र परिवार द्वारा स्नेहिल स्वागत किया गया. डॉ. सैयद अबरार और पत्रकार सीपी दुबे ने इस अवसर पर अपने पुरस्कारों को अमरावती के नाम समर्पित किया.

NO COMMENTS