सराफा का सफाया करने वाले लुटेरे 8 घंटे में ही कटनी में पकड़े गए 

0
1215
सराफा
अवनी ज्वेलर्स में छानबीन करते जरीपटका पुलिस थाने के अधिकारी.

करीब 25 लाख रुपए के सोने-चांदी के आभूषणों का कर दिया था सफाया 

नागपुर : शहर के जरीपटका क्षेत्र में सोमवार को दिनदहाड़े एक सराफा दुकान में चार लुटेरों ने करीब 20 से 25 लाख रुपए मूल्य के आभूषण लूट ले गए. पुलिस ने तेजी से कार्रवाई शुरू की और आठ-नौ घंटे में ही करीब रात 11 बजे मध्यप्रदेश पुलिस के सहयोग से लुटेरों को कटनी के पास गिरफ्त में ले लिए जाने की जानकारी है. बताया गया कि लुटेरे उत्तर प्रदेश भागने की फिराक में थे. 
सराफा
दिन के करीब सवा दो बजे भीम चौक के निकट नागसेन नगर अवनी ज्वेलर्स नामक एक सराफा दुकान का लुटेरों ने सफाया कर दिया था. करीब 5 लाख रुपए नकद और सोने-चांदी के आभूषणों सहित लगभग 25 लाख रुपए कीमत के आभूषणों पर लुटेरे हाथ साफ करने में सफल हो गए थे. 

सूचना मिलते ही जरीपटका थाने की पुलिस ने पहुंच कर छानबीन शुरू कर दी. पूछताछ और सीसीटीवी में कैद लुटेरों की गतिविधियों के आधार पर पुलिस ने मध्यप्रदेश की ओर जाने वाले मार्गों और मानसर-देवलापार मार्ग की भी चौकसी शुरू की. साथ ही एक बाइक और एक सफेद स्कूटर पर पहुंचे चारों लुटेरों की छानबीन के लिए मध्यप्रदेश पुलिस को भी सूचना दे दी गई थी. बताया गया कि कटनी में पकड़े गए लुटेरों को लाने के लिए यहां से पुलिस दल रवाना किया जा रहा है. 

प्राप्त जानकारी के अनुसार सराफा दुकान में उस वक्त मालिक आशीष नरेंद्र नावरे (35) मौजूद थे. उसी समय मुंह पर मास्क लगाए पहुंचे. उन्होंने नावरे से सोने की चेन दिखाने को कहा. नावरे झुक कर शोकेस से चेन की ट्रे निकालने लगे. उसी वक्त दो और लुटेरे वहां पहुंचे. एक ने अंदर आकर दुकान की शटर गिरा दी. चौथा बाहर ही रहा. 

नावरे ने बताया कि शटर गिराने के बाद जब उन्होंने विरोध किया तो एक लुटेरे ने उनका गला दबाया और दूसरे ने उनकी कनपटी पर पिस्टल लगा दी. इसके बाद उन लुटेरों ने उनके मुंह पर टेप लगा दिया और हाथ बाँध दिए. विरोध करने पर एक ने उनके मुंह पर घुसा जड़ कर उन्हें जख्मी कर दिया. उन्हें कुर्सी से बांध कर उनका मोबाइल फोन छीन लिया. इसके बाद लुटेरों ने दुकान के शोकेस समेत अलमारी और तिजोरी में रखे सारे 600 ग्राम सोने के और 10 किलो चांदी के आभूषण एवं लगभग 5 लाख रुपए नकद लूट ले गए. कुल मिलाकर लुटेरों ने 20 से 25 लाख रुपए के आभूषण और नकदी लूट ले गए. 

नावरे ने बताया कि जाते-जाते वे सीसीटीवी के स्वीच उखाड़ गए. लेकिन सीसीटीवी में लुटेरे कैद हो गए हैं. उनके जाने के बाद नावरे किसी तरह अपने को आजाद किया और बाहर आकर शोर मचाया. साथ ही तुरंत उन्होंने जरीपटका थाने की पुलिस को सूचित किया. पुलिस अधिकारियों ने पहुंच कर छानबीन शुरू कर दी. फलस्वरूप मध्यप्रदेश पुलिस की मदद से लुटेरे कटनी के समीप उत्तरप्रदेश की ओर जाते हुए पकड़ लिए गए. 

NO COMMENTS