काबा, मदीना बंद हैं तो भारत के मस्जिद क्यों नहीं – जावेद अख्तर

0
566
जावेद

उनके द्वारा किए गए एक ट्वीट की इन दिनों हो रही है बहुत प्रशंसा

नागपुर : बॉलीवुड के सुप्रसिद्ध गीतकार जावेद अख्तर के उनके हाल के एक ट्वीट की इन दिनों बहुत प्रशंसा हो रही है. उन्होंने अल्पसंख्यक आयोग के पूर्व चेयरमैन और इस्लामिक स्कॉलर ताहिर मोहम्मद साहब के एक ट्वीट की प्रशंसा के साथ यह बात भी जोड़ी है कि यदि काबा और मदीना के मस्जिदों को बंद किया जा सकता है तो भारत के मस्जिदों को क्यों नहीं? 


ताहिर मोहम्मद साहब ने देवबंद के दारुल उलुम से अपील की है कि देश में फैल रहे कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए भारत के सभी मस्जिदों को बंद रखने का फतवा जारी की जाए. कोरोना संक्रमण से बचने के लिए मंदिर-मस्जिदों समेत सभी धार्मिक स्थलों को बंद रखने और सभी सार्वजनिक कार्यक्रम स्थगित रखने की अपील सरकार द्वारा की गई है. इसके बावजूद देश के अनेक मस्जिदों में सरकार की अपील को ठुकरा कर लोगों को मस्जिद में आने और नमाज अता करने के लिए प्रेरित किया जा रहा है. 


ताहिर मोहम्मद साहब और जावेद अख्तर, दोनों विद्वानों ने सरकार की अपील का समर्थन किया है. उन्होंने इसका अक्षरशः पालन करने पर भी बल दिया है. जावेद अख्तर ने महाराष्ट्र में लॉकडाउन का पालन सख्ती से और बेहतर ढंग से कराने पर मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की प्रशंसा भी की है. उन्होंने उन्हें बधाई भी दी है. 

NO COMMENTS