कोयला तस्करी : ममता बनर्जी के सांसद भतीजे की पत्नी लिप्त..?

0
1002
कोयला तस्करी
TMC सांसद अभिषेक बनर्जी और ममता बनर्जी के मध्य इनसेट में अभिषेक की पत्नी रुजीरा नरूला.

CBI ने जारी किया समन, पूछताछ के लिए बुलाया, TMC की मुश्किलें बढ़ीं

कोलकाता /नई दिल्‍ली :  पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस (TMC) की प्रमुख ममता बनर्जी के भतीजे सांसद अभिषेक बनर्जी के घर पर केंद्रीय जांच ब्‍यूरो (CBI) की एक टीमकोयला तस्करी मामले में पहुंची. सूत्रों के मुताबिक, कोयला तस्करी मामले में अभिषेक बनर्जी की पत्नी को समन जारी किया गया है. सूत्रों के अनुसार CBI को पता चला है कि अभिषेक बनर्जी की पत्नी कोयला तस्करी में लिप्त हैं. CBI की एक टीम ने आज अभिषेक बनर्जी के घर जा कर नोटिस की तामील की.

इसके साथ ही राज्य में TMC की छवि को बड़ा आघात पहुंचा है. अगले कुछ महीनों में होने वाले विधानसभा चुनाव होने वाले हैं. ऐन चुनाव से पहले पहले अभिषेक बनर्जी के साथ स्वयं मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की मुश्किलें बढ़ गई हैं. विदित हो कि TMC में पहले से ही भगदड़ मची हुई है. अनेक प्रभावी विधायक, पूर्व सांसद और कार्यकर्ता पार्टी छोड़ भाजपा का दामन थामते जा रहे हैं.  

CBI सूत्रों ने बताया कि अभी अभिषेक की पत्नी रुजीरा नरूला को ही समन दिया गया है और उन्हें आज ही पूछताछ के लिए बुलाया गया है. सूत्रों ने बताया कि अभिषेक को सम्मन अभी नहीं दिया गया है. नरूला से पूछताछ के बाद अभिषेक को जल्द ही समन दिया जाएगा.

ऐसा पहली बार है जब कोयला तस्करी मामले में सीबीआई ने एक्‍शन लिया और TMC सांसद अभिषेक बनर्जी के घर पर पहुंची. सीबीआई का टीम जब अभिषेक के घर पहुंची तो वह और उनकी पत्नी घर पर नहीं थे. हालांकि हालात बिगड़ने की आशंका को देखते हुए पुलिस ने पूरे इलाके की बैरिकेटिंग कर दी है.

इससे पहले भी फंस चुकी रुजीरा
बता दें कि इससे पूर्व भी सांसद अभिषेक बनर्जी की पत्नी रुजीरा नरूला अपनी मुश्किलें बढ़ा चुकी हैं. कुछ दिन पहले कोलकाता एयरपोर्ट पर कस्टम विभाग के अधिकारियों को अपनी पहुंच की हनक दिखाने की घटना के बाद वह ओसीआई यानी ओवरसीज सिटिजन ऑफ इंडिया कार्ड के लिए ‘गलत जानकारियां’ देने के मामले में फंस चुकी थी.

रुजीरा नरूला ने पैन कार्ड के लिए फॉर्म 49ए भरते समय इस बात का जिक्र नहीं किया था कि वह ओसीआई कार्ड रखने वाली थाईलैंड की नागरिक हैं. लेकिन 14 नवंबर, 2009 को पैन कार्ड के आवेदन करते समय नरूला ने अपनी वास्तविक नागरिकता छिपा ली थी. उन्हें खुद को ओसीआई कार्ड धारक विदेशी नागरिक घोषित करते हुए पैन कार्ड लेने के लिए फार्म 49एए भरना चाहिए था. लेकिन उन्होंने भारतीय नागरिक की हैसियत से रुजीरा नरूला नाम से पैन कार्ड संख्या AJNPN22*** हासिल कर ली थी.

लगातार छापेमारी कर रही CBI
इधर कोयला के अवैध खनन और तस्‍करी के मामले में सीबीआई लगातार छापेमारी कर रही है. इस मामले में जयदेव मंडल और लंबे समय से फरार चल रहे कोयला माफिया अनूप माजी उर्फ लाला के ठिकाने भी सीबीआई ने कुछ दिन पहले ही रेड डाली थी. इस दौरान सीबीआई ने कोलकाता, पुरुलिया, पश्चिम बर्धमान, और बांकुड़ा में तलाशी अभियान चलाया था. सीबीआई ने छापेमार कार्रवाई के दौरान मंडल, माजी और अमिया स्टील नामक एक कंपनी के परिसरों में तलाशी ली थे. इससे पहले सीबीआइ ने कुछ दिन पहले ही कोयला तस्करी के मामले में कारोबारी और युवा तृणमूल कांग्रेस (Youth TMC) के नेता विनय मिश्रा, व्यवसायी अमित सिंह और नीरज सिंह के तीन आवासों पर छापेमारी की थी.

छापे के दौरान सीबीआई को कोई भी घर पर नहीं मिला था, जिसके बाद विनय मिश्रा समेत अन्‍य सभी के नाम पर लुकआउट नोटिस जारी किया गया था. कई बार पूछताछ के लिए बुलाए जाने पर भी हाजिर न होने पर विनय मिश्रा के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी हो चुका है. सीबीआई ने इस मामले में अनूप माजी उर्फ लाला की संपत्तियों को जब्त करने के लिए हाई कोर्ट में अपील की है.

NO COMMENTS