नागपुरी संतरे से पटा नागपुर का थोक कृषि बाजार

0
186
संतरे

नागपुर : नागपुरी रसीले संतरों से नागपुर का कृषि उत्पन्न बाजार समिति का प्रांगण रंग गया है. जिले के काटोल, कोंढाली, सावनेर, नागभीड, मोहपा आदि ग्रामीण क्षेत्रों से प्रतिदिन 150 से 200 मिनी ट्रकों और टेम्पो से संतरे थोक बाजार में आ रहे हैं. क्वालिटी के आधार पर थोक बाजार में 15 से 20 हजार रुपए प्रति टन की दर से हाथों हाथ देश के विभिन्न राज्यों के व्यापारी संतरे खरीद कर ले जा रहे हैं.
संतरे
इस मौसम के मृगबहार संतरे काफी पसंद किए जाते हैं. इन नागपुरी संतरे की मध्यप्रदेश, उत्तर प्रदेश, छतीसगढ़, झारखंड, बिहार, बंगाल और पूर्वोत्तर राज्यों से लेकर पंजाब और जम्मू, तेलंगणा, कर्नाटक सहित दक्षिणी राज्यों में भी मांग रहती है. प्रति वर्ष नागपुर बाजार समिति के अलावा बाहरी राज्यों के व्यापारी सीधे किसानों के संतरा बगीचे से ही हजारों टन खरीद लेते हैं.

सहकारी संस्था महाऑरेंज की ओर से पिछले कुछ वर्षों से किसानों को अच्छी फसल लेने के लिए समुचित प्रशिक्षण की व्यवस्था की जा रही है. इस कारण संतरों की गुणवत्ता पहले से काफी अच्छी हो गई है. इससे व्यापार भी बढ़ा है. संतरा प्रसंस्करण की व्यवस्था हो जाने के कारण अब किसानों की आय भी बढ़ी है. फिलहाल मृगबहार संतरे की मांग चल रही है.

NO COMMENTS