जम्मू-कश्मीर में लुढ़की महबूबा मुफ्ती की सरकार

0
1305

भाजपा ने समर्थन वापस लिया, गवर्नर रूल लागू करने की मांग की

नई दिल्ली : जम्मू-कश्मीर में भाजपा के सरकार से समर्थन वापस लेने के बाद राज्य की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने राज्यपाल एन.एन. वोहरा को अपना इस्तीफा सौंप दिया है. इसी दौरान भाजपा ने भी राज्य में गवर्नर रूल लागू करने की मांग की है.

नई दिल्ली में भाजपा कोर कमिटी ने लिया फैसला
राजधानी दिल्ली में भाजपा की कोर कमिटी की बैठक में पीडीपी सरकार से समर्थन वापस लेने का फैसला किया गया. भाजपा चीफ अमित शाह ने जम्मू-कश्मीर के सभी भाजपा नेताओं की राय जानी और फिर पार्टी ने सरकार से अलग होने का फैसला किया. भाजपा महासचिव राम माधव, केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह और जम्मू भाजपा के दूसरे नेताओं ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर समर्थन वापसी के फैसले का ठीकरा महबूबा मुफ्ती पर फोड़ा. भाजपा नेताओं ने महबूबा पर आतंकवाद रोक पाने में असफल होने का आरोप लगाया.

नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला मिले राजयपाल से
जम्मू-कश्मीर में मुफ्ती सरकार गिरने के बाद राज्य की मुख्य विपक्षी पार्टी नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता और पूर्व सीएम उमर अब्दुल्ला ने राज्यपाल एन.एन. वोहरा से मुलाकात की. उमर ने कहा, ‘मैंने गवर्नर से मुलाकात की. मैंने उन्हें बताया कि न तो हमें 2014 में मैंडेट मिला और न ही अब हमारे पास मैंडेट है. न तो किसी ने हमें अप्रोच किया और न ही हमने किसी को अप्रोच किया है.

किसी पार्टी के पास बहुमत नहीं
उन्होंने बताया कि अभी किसी पार्टी के पास बहुमत नहीं है तो उन्हें गवर्नर रूल लागू करना ही होगा. मैंने अपनी पार्टी की तरफ से गवर्नर को भरोसा दिलाया है कि हम किसी भी स्थिति में उनका समर्थन करेंगे, लेकिन साथ ही गुजारिश भी की कि स्टेट में ज्यादा समय तक राज्यपाल शासन न हो, लोगों को उनके द्वारा चुनी गई सरकार के साथ आगे बढ़ने का मौका मिलना चाहिए.

समर्थन वापसी के भाजपा के कदमों से अनजान थी पीडीपी
पीडीपी के प्रवक्ता रफी अहमद मीर ने कहा, ‘हमने सरकार चलाने के लिए भरपूर कोशिश की. यह तो होना ही था. यह हमारे लिए काफी चौंकाने वाला था, क्योंकि हमें उनके फैसले के बारे में कोई जानकारी नहीं थी. वहीं पीडीपी के एक अन्य नेता ने कहा कि हम शाम को 5 बजे विस्तार से बात करेंगे, तब तक के लिए महबूबा मुफ्ती ने राज्यपाल को अपना इस्तीफा सौंप दिया है.

भाजपा महासचिव राम माधव ने समर्थन वापसी के कारण गिनाए-
– भाजपा महासचिव राम माधव ने कहा कि मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती राज्य में हालात नहीं संभाल पाईं.

– रमजान के दौरान केंद्र सरकार ने शांति बहाल के लिए राज्य में सीजफायर किया था, पर न तो आतंकवादियों और न हुर्रियत से अच्छा जवाब मिला.

– भाजपा ने राज्य के तीनों क्षेत्र के विकास के लिए कोशिश की. जम्मू, लद्दाख और कश्मीर क्षेत्र के समान विकास के लिए केंद्र ने पूरा सहयोग दिया पर राज्य सरकार द्वारा जम्मू क्षेत्र के साथ भेदभाव किया गया.

– जम्मू-कश्मीर की मौजूदा स्थिति के कारण पीडीपी-भाजपा गठबंधन टूट गया है.

– श्रीनगर में एक बड़े पत्रकार की हत्या हो गई पर राज्य सरकार चुप रही.

– राज्य में राज्यपाल शासन से हालात सुधर सकता है। भाजपा इसकी मांग करती है.

– जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद काफी बढ़ गया था। जम्मू-कश्मीर में स्थिति काफी खराब हो गई है.

– पीडीपी ने भाजपा और केंद्र सरकार के काम में अड़ंगा डालने की कोशिश की.

– भाजपा ने समर्थन वापसी की चिट्ठी राज्यपाल को भेज दी है.

NO COMMENTS