ब्लैक फंगस रोधी इंजेक्शन तैयार, गड़करी को जन्मदिन उपहार

0
1802
ब्लैक फंगस
केंद्रीय मंत्री नितिन गड़करी को जन्मदिन का उपहार पेश करती वर्धा की दवा निर्माता कंपनी जेनेटिक लाइफ साइंसेस प्रा. लिमिटेड.

केंद्रीय मंत्री के प्रयासों से तैयार Amphotericin B Emulsion सोमवार से मिलेगा मरीजों को

नागपुर : वर्धा की दवा निर्माता कंपनी जेनेटिक लाइफ साइंसेस प्रा. लिमिटेड ने ब्लैक फंगस नामक अत्यंत घातक रोग ‘म्युकर मायकोसिस’ के इलाज के लिए आवश्यक इंजेक्शन Amphotericin B Emulsion तैयार कर लिया है. यह इंजेक्शन नागपुर सहित पूरे महाराष्ट्र के ब्लैक फंगस से पीड़ित मरीजों के लिए उपलब्ध होगा. केंद्रीय मंत्री नितिन गड़करी के कार्यालय ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी है.


गड़करी का 64वां जन्मदिन आज ही गुरुवार, 27 मई को
आज ही गुरुवार, 27 मई को जब केंद्रीय परिवहन एवं लघु माध्यम उद्योग मंत्री नितिन गड़करी का 64वां जन्मदिन है, जेनेटिक लाइफ साइंसेस ने Amphotericin B Emulsion इंजेक्शन तैयार कर लिए जाने की घोषणा कर केंद्रीय मंत्री को महत्वपूर्ण उपहार दे दिया है. इससे पूर्व 14 मई को केंद्रीय मंत्री ने जानकारी दी थी कि जेनेटिक लाइफ साइंसेस अगले 15 दिनों में Amphotericin B Emulsion इंजेक्शन तैयार कर लेगा. लेकिन जेनेटिक ने 13 दिनों में ही इसे तैयार कर दिखाया.
ब्लैक फंगस
इंजेक्शन अब मात्र 1200 रुपए में उपलब्ध
गड़करी ने इसके लिए पुरजोर प्रयास कर केंद्र एवं महाराष्ट्र सरकार से इस इंजेक्शन को तैयार करने अनुमति वर्धा के इस जेनेटिक को दिलवाई थी. अब तक इस इंजेक्शन का निर्माण देश में बस एक ही दवा कंपनी सीरम इंस्टीट्यूट द्वारा की जा रही थी. लेकिन वह मात्रा पर्याप्त नहीं थी. उसकी कीमत प्रति इंजेक्शन 7 हजार रुपए है. जेनेटिक का यह इंजेक्शन अब मात्र 1200 रुपए में उपलब्ध है. इंजेक्शन की कमी के कारण इसकी कालाबाजारी भी होने लगी थी. ब्लैक फंगस मरीजों को 10 इंजेक्शन की डोज लेनी पड़ती है. ऐसे में गरीब मरीजों के लिए यह इंजेक्शन खरीद पाना भारी पड़ रहा  उनकी जानें भी जा रही थीं.
ब्लैक फंगस
गड़करी के प्रयासों ने बड़ा रंग लाया है. बताया गया कि जेनेटिक प्रतिदिन 20 हजार Amphotericin B Emulsion इंजेक्शन तैयार कर रहा है. इससे न केवल नागपुर और विदर्भ  मरीजों की, बल्कि महाराष्ट्र के सभी ब्लैक फंगस मरीजों के उपचार में गति आएगी. उल्लेखनीय है कि महाराष्ट्र सरकार ने ब्लैक फंगस के मरीजों का उपचार अपने खर्च पर कराने की भी घोषणा की है. यह भी मरीजों के लिए बड़ी राहत की बात है.

उल्लेखनीय है कि रेमडेसिवीर इंजेक्शन की कमी दूर करने के लिए गड़करी ने ही जेनेटिक को दिलवाई थी. इससे इस इंजेक्शन की किल्लत भी दूर करने में बड़ी मदद मिली है.

NO COMMENTS