नासिक अस्पताल में बड़ा हादसा, ऑक्सीजन टैंक लीक से 22 मृत

0
291
नासिक

मुंबई : महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमण संकट के बीच नासिक में बड़ा हादसा हो गया है. यहां के डॉक्टर जाकिर हुसैन अस्पताल में ऑक्सीजन टैंक लीक हो गया. इस हादसे में 22 मरीजों की मौत हो गई. वहीं, 12 लोगों की हालत गंभीर है.


बताया जाता है कि टैंकर में ऑक्सीजन भरने के दौरान यह रिसाव हुआ. रिसाव के कारण अस्पताल परिसर में ऑक्सीजन फैल गई थी. महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस ने मामले में जांच की मांग की है. राज्य सरकार में एफडीए मंत्री राजेंद्र शिंगणे ने जांच के आदेश दिए हैं. एफडीए मंत्री के साथ स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे नासिक के लिए रवाना हो गए हैं.
नासिक
एफडीए मंत्री शिंगणे ने यहां पत्रकारों से कहा कि हम इसकी जांच करेंगे और आने वाले दिनों में ऐसी घटना न हो, इसके लिए काम करेंगे. उन्होंने कहा ‘यह एक दुर्भाग्यपूर्ण घटना है. शुरुआती जानकारी से पता चला है कि 11 लोगों की मौत हो गई है. हम एक विस्तृत जांच रिपोर्ट पाने की कोशिश कर रहे हैं. साथ ही हमने जांच के आदेश दे दिए हैं.’ मंत्री ने कहा कि इस हादसे के लिए जो भी जिम्मेदार होगा, उसे छोड़ा नहीं जाएगा। उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी.’

सीरियस पेशेंट्स को दूसरे हॉस्पिटल में शिफ्ट
नासिक के कमिश्नर के मुताबिक, 150 लोग अस्पताल में भर्ती थे. 23 लोग वेंटिलेटर पर थे. अन्य लोग ऑक्सीजन पर थे. बताया जा रहा है कि हॉस्पिटल में ऑक्सीजन फीलिंग करते हुए ऑक्सीजन लीक हो गया. फायर ब्रिगेड की टीम ने मौके पर पहुंचकर ऑक्सीजन वॉल्व बंद किया. पाइप लाइन की लीकेज की वजह से सीरियस पेशेंट्स को दूसरे हॉस्पिटल में शिफ्ट किया गया है.

टैंक में से हुए रिसाव के चलते पूरे इलाके में ऑक्सीजन फैल गई थी. खबर है कि इस दौरान अस्पताल में 25 मरीजों का इलाज वेंटिलेटर पर जारी था. कई मरीजों की हालत गंभीर बनी हुई है. इसके अलावा 60 से ज्यादा मरीजों को ऑक्सीजन दी जा रही थी. महाराष्ट्र देश का कोरोना वायरस महामारी से सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य है.

महाराष्ट्र में ऑक्सीजन की भारी कमी
उल्लेखनीय है कि महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण की वजह से हालात बेहद खराब हैं और कई जिलों में ऑक्सीजन की भारी कमी है. इस कारण कई मरीजों को अपनी जान गंवानी पड़ रही है. इसके बाद राज्य सरकार ने केंद्र से अनुरोध किया था कि हवाई मार्ग के जरिए ऑक्सीजन की सप्लाई राज्य में करवाई जाए, ताकि मरीजों को सही समय पर ऑक्सीजन मुहैया हो सके.

NO COMMENTS