मुख्यमंत्री ठाकरे के साले की करोड़ों की संपत्ति जब्त

0
1323
मुख्यमंत्री
मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के साले श्रीधर माधव पाटणकर.

मनी लॉन्ड्रिंग मामले में बड़ी कार्रवाई, श्रीधर पाटणकर के ठाणे के 11 फ्लैट सील

मुंबई : मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे का परिवार भी अब केंद्रीय जांच एजेंसी प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के निशाने पर आ गया है. ईडी ने मनी लॉन्ड्रिंग से संबंधित मामले में बड़ी कार्रवाई करते हुए मुख्यमंत्री के साले श्रीधर माधव पाटणकर की करोड़ों रुपए की संपत्ति जब्त कर लिया है. यह जानकारी एक समाचार एजेंसी ने ट्विटर पर दिया है.


ईडी ने आज मंगलवार को ठाणे के नीलांबरी परियोजना में बने उनके 11 आवासीय फ्लैट भी सीज किया है. केंद्रीय जांच एजेंसी की इस कार्रवाई के बाद महाराष्ट्र में फिर एक बार केंद्र और महा विकास अघाड़ी सरकार के खिलाफ केंद्रीय एजेंसियों के इस्तेमाल की बहस को और तीव्र होने वाली है.

श्रीधर पाटणकर मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की पत्नी सौ. रश्मि ठाकरे के भाई हैं. वे पुष्पक समूह में पार्टनर हैं. ईडी ने जिस प्रॉपर्टी को कुर्क किया है, उसकी अनुमानित कीमत 6.45 करोड़ रुपए है.

अब तक महाविकास अघाड़ी के मंत्री और नेता ईडी के निशाने पर थे, लेकिन इस कार्रवाई के बाद अब माना जा रहा है कि मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे का परिवार ईडी के निशाने पर आ गया है. इसे अब केंद्र का आघाड़ी सरकार पर सीधा हमला माना रहा है.

आज रात मुख्यमंत्री ठाकरे को नींद नहीं आएगी : सोमैया
इस खबर पर भाजपा के पूर्व सांसद किरीट सोमैया ने प्रतिक्रिया दी है. सोमैया ने कहा है कि इस कार्रवाई के बाद आज रात मुख्यमंत्री ठाकरे को नींद नहीं आएगी. उन्होंने कहा कि ठाकरे की माफिया सेना ने जो लूट मचाई है, अब उसका हिसाब उन्हें भी देना पड़ेगा. उन्होंने ट्वीट कर भी कहा है कि उद्धव ठाकरे के साले श्रीधर पाटणकर मनी लॉन्ड्रिंग मामले में लिप्त हैं. शेल कंपनियां चलाते थे. ईडी ने संपत्ति जब्त की है.


इस संदर्भ में क्या ईडी के अधिकारी श्रीधर पाटणकर को पूछताछ के लिए बुलाएंगे? अभी तक कोई आधिकारिक सूचना नहीं मिली है. लेकिन माना जा रहा है कि उन्हें जल्द पूछताछ के लिए बुलाया जा सकता है.

इसलिए ईडी ने जब्त किए हैं फ्लैट्स
जानकारी के मुताबिक, 30 करोड़ रुपए का अनसिक्योर्ड लोन एक एंट्री ऑपरेटर नंदकिशोर चतुर्वेदी नाम के शख्स के जरिए एक शेल कंपनी श्री साईबाबा गृहिणी समिति प्राइवेट लिमिटेड के जरिए ट्रांसफर किया गया था. आरोप है कि श्रीधर पाटणकर ने ठाणे में इन 11 फ्लैट्स इतनी ही रकम में खरीदे गए थे. ईडी को संदेह है कि इन पैसों का इस्तेमाल मनी लॉन्ड्रिंग करके इन फ्लैट्स को खरीदने में हुआ है.

NO COMMENTS