कांग्रेस मुख्यालय में राहुल के दौरे के एक दिन पूर्व आयकर छापा 

0
1013
कांग्रेस मुख्यालय
बिहार प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय सदाकत आश्रम में आयकर छापे के दौरान खड़ी टाटा जेस्ट गाड़ी में मिले 8.50 लाख रुपए के बारे आयकर विभाग के अधिकारी छानबीन करते हुए. 

*सीमा सिन्हा,
पटना :
विधानसभा चुनाव में कांग्रेस नेता राहुल गांधी के बिहार दौरे के कार्यक्रम के एक दिन पहले यहां कांग्रेस को एक बड़ा झटका लगा है. प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय सदाकत आश्रम में आयकर विभाग ने छापा मारा है. पता चला है कि परिसर में खड़ी एक टाटा जेस्ट गाड़ी से 8.50 लाख रुपए मिले हैं.
कांग्रेस मुख्यालय
आयकर विभाग ने सदाकत आश्रम में जांच शुरू कर दी है और वहां मौजूद नेताओं से पूछताछ भी की गई है. आयकर के अधिकारियों ने बिहार कांग्रेस के प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल से पूछताछ भी की है.
कांग्रेस मुख्यालय
इसके अलावा आयकर विभाग की टीम ने रणदीप सुरजेवाला से भी पूछताछ की है. यह जांच प्रक्रिया काफी घंटों तक कांग्रेस मुख्यालय में चली है. इनकम टैक्स विभाग ने सदाकत आश्रम पर नोटिस चिपका दिया है. इस छापामारी के बाद कांग्रेस कार्यालय में सन्नाटा पसर गया है.

सदाकत आश्रम में मौजूद सभी नेता इस तरह एक्शन लिए जाने से अवाक हैं. बिहार कांग्रेस के लिए चुनाव के लिहाज से यह एक बड़ा झटका भी साबित हो सकता है.

इस गाड़ी से जुड़े तीन लोगों से पूछताछ की जा रही है. इनमें आशुतोष कुमार सिन्हा, जितेन्द्र कुमार व योगेन्द्र कुमार हैं. सूत्रों के अनुसार पूछताछ में यह बात सामने आई है कि बरामद नकदी गया जिले से चुनाव लड़ रहे कांग्रेस के एक उम्मीदवार का है.  

इस पूरे प्रकरण पर कांग्रेस सांसद व बिहार प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल ने कहा कि कोई कितना भी परेशान करे, कोई फर्क नहीं पड़ेगा. राहुल गांधी के कार्यक्रम के एक दिन पहले कांग्रेस मुख्यालय पर छापा क्यों डाला गया, पब्लिक सब जानती है. कार्यक्रम होगा और बहुत सफल होगा.  

उन्होंने कहा कि भाजपा प्रत्याशी के भाई के गाड़ी से 22 किलो सोना मिला। आयकर की टीम भाजपा कार्यालय नहीं गई। सदाकत आश्रम में किसी गाड़ी से आठ लाख रुपये मिले तो कांग्रेस मुख्यालय में नोटिस चिपका दिया। पार्टी आयकर विभाग को जवाब देगी और जनता सरकार को। लोकतंत्र में जनता ही मालिक है।

एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि सदाकत आश्रम राजनीतिक दल का मुख्यालय है. यहां किसी को आने से नहीं रोका जाता है. कोई भी आता है. सभी मेरी इजाजत से नहीं आते हैं और न ही किसी की गाड़ी चेक की जाती है. आयकर की टीम ने तत्काल किसी से कुछ पूछा भी नहीं. अधिकारी सबकुछ जानते हैं, कैसे पूछेंगे.

NO COMMENTS