चुनाव आयुक्त गोयल ने ऐन लोकसभा चुनाव से पूर्व दिया इस्तीफा

0
376
चुनाव आयुक्त
चुनाव आयुक्त अरुण गोयल, जिन्होंने अपने पद से इस्तीफा दे दिया.

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने तुरंत पदमुक्त भी कर लिया

नई दिल्ली : चुनाव आयुक्त (EC) अरुण गोयल ने शनिवार को अपने पद से इस्तीफा दे दिया. गोयल का इस्तीफा ऐसे वक्त आया है कि जबकि कुछ ही हफ्तों में देश में लोकसभा चुनाव होने वाले हैं. राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने उनका इस्तीफा स्वीकार भी कर लिया है.

अरुण गोयल के इस्तीफे के पीछे क्या वजह है, इसके बारे में अभी कोई जानकारी नहीं सामने आई है. उनका इस्तीफा ऐसे समय में आया है जबकि चुनाव आयोग लोकसभा चुनाव की तैयारियों में जोर-शोर से जुटा हुआ है. हालांकि अभी चुनाव की तारीखों का ऐलान नहीं किया गया है.

मुख्य चुनाव आयुक्त (CEC) बनने वाले थे गोयल

अरुण गोयल मुख्य चुनाव आयुक्त (CEC) बनने की कतार में थे, क्योंकि मौजूदा राजीव कुमार फरवरी 2025 में रिटायर होने वाले हैं. गोयल पंजाब-कैडर के रिटायर्ड आईएएस अधिकारी हैं. उन्होंने नवंबर 2022 में चुनाव आयुक्त का पद संभाला था. जानकारी के मुताबिक उनका कार्यकाल 2027 तक था.

फरवरी में रिटायर हुए हैं चुनाव आयुक्त अनूप पांडे

2024 लोकसभा से पहले EC अनूप पांडे भी रिटायर हो चुके हैं. पांडे का रिटायरमेंट 15 फरवरी को हुआ था। इसके बाद से तीन सदस्यीय भारतीय चुनाव आयोग में एक पद खाली था. अरुण गोयल के इस्तीफे के बाद आयोग में अब केवल CEC राजीव कुमार ही रह गए हैं.

लोकसभा चुनाव के अतिरिक्त चुनाव आयोग को आंध्र प्रदेश, ओडिशा, सिक्किम और अरुणाचल प्रदेश में विधानसभा चुनाव भी कराने हैं. चुनाव आयोग की टीम सभी राज्यों का दौरा करके चुनाव की तैयारियों का जायजा लेने में जुटी है. अनुमान है कि देश में लोकसभा चुनाव अप्रैल-मई में हो सकता है.

गौरतलब है कि अरुण गोयल के इस कदम के बाद अब चुनाव आयोग में 2 रिक्तियां हो गई हैं. चुनाव आयोग में कमिश्नर के अब दो पद खाली हो गए हैं. अरुण गोयल ने 21 नवंबर 2022 को EC का पदभार ग्रहण किया था. 1985 बैच के आईएएस अधिकारी अरुण गोयल पहले सचिव, भारी उद्योग मंत्रालय, भारत सरकार के रूप में काम कर चुके हैं.

आज शनिवार को जारी गजट अधिसूचना में कहा गया कि CECऔर अन्य EC (नियुक्ति, सेवा की शर्तें और कार्यालय की अवधि) अधिनियम, 2023 की धारा 11 के खंड (1) के अनुसरण में, राष्ट्रपति को 09 मार्च, 2024 से प्रभावी श्री अरुण गोयल, चुनाव आयुक्त द्वारा दिए गए इस्तीफे को स्वीकार करते हुए खुशी हो रही है.

गोयल 1985 बैच के पंजाब कैडर के आईएएस अधिकारी हैं. उन्होंने 18 नवंबर को स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति ले ली थी. हालांकि, उन्हें 60 वर्ष का होने के बाद 31 दिसंबर 2022 को सेवानिवृत्त होना था. गोयल को नवंबर 20022 को चुनाव आयुक्त नियुक्त किया गया था. वह CEC राजीव कुमार और चुनाव आयुक्त अनूप चंद्र पांडेय के साथ निर्वाचन आयोग का हिस्सा बने. उनकी नियुक्ति ऐसे समय में की गई थी, जब गुजरात में एक और पांच दिसंबर को दो चरणों में विधानसभा चुनाव के लिए मतदान होना था.

NO COMMENTS