पवार को बड़ा झटका, पोते की 50 करोड़ की चीनी मिल कुर्क 

0
428
पवार
राकांपा (शरद) सुप्रीमो शरद पवार के विधायक पोते रोहित पवार, जिनकी चीनी मिल शुक्रवार को प्रवर्तन निदेशालय ने मनी लॉन्ड्रिंग मामले में कुर्क कर ली.

 महा. राज्य सहकारी बैंक घोटाले में मनी लॉन्ड्रिंग मामले की जांच के सिलसिले में हुई बड़ी कार्रवाई 

औरंगाबाद (महाराष्ट्र) : प्रवर्तन निदेशालय ने शुक्रवार को राकांपा (सपा) सुप्रीमो शरद पवार के पोते रोहित पवार की कंपनी के स्वामित्व वाली चीनी मिल की 50.20 करोड़ रुपए से अधिक की संपत्ति कुर्क कर ली है. लोकसभा चुनाव 2024 के ऐन पूर्व महाराष्ट्र राकांपा (शरद पवार) और राकांपा सुप्रीमो शरद पवार के लिए बड़ा झटका माना जा रहा है. 

रोहित की चीनी मिल पर यह कार्रवाई कथित महाराष्ट्र राज्य सहकारी बैंक (एमएससीबी) घोटाले में संघीय एजेंसी द्वारा की गई मनी लॉन्ड्रिंग जांच से संबंधित है.

ईडी ने यहां बताया कि औरंगाबाद जिले के कन्नड़ गांव में स्थित कन्नड़ सहकारी साखर कारखाना लिमिटेड (कन्नड़ एसएसके) की कुल 161.30 एकड़ भूमि, संयंत्र, मशीनरी और भवन को धन शोधन निवारण अधिनियम (पीएमएलए) के तहत अस्थायी रूप से संलग्न किया गया है.

<blockquote class=”twitter-tweet”><p lang=”en” dir=”ltr”>ED, Mumbai has attached 161.30 acres of land, plant &amp; machinery and building structures of a sugar unit at Kannad, Aurangabad presently in possession of M/s Baramati Agro Ltd. worth Rs. 50.20 Crore under PMLA in a case related to illegal sale of Sugar factories by Maharashtra…</p>&mdash; ED (@dir_ed<ahref=”https://twitter.com/dir_ed/status/1766059490204336500?ref_src=twsrc%5Etfw”>March 8, 2024</a></blockquote> <script async src=”https://platform.twitter.com/widgets.js” charset=”utf-8″></script>

कन्नड़ एसएसके का स्वामित्व बारामती एग्रो  लिमिटेड के पास है, जो रोहित पवार की कंपनी है. रोहित पवार राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के शरद पवार गुट के विधायक भी हैं.

महाराष्ट्र की कर्जत-जामखेड विधानसभा सीट से 38 वर्षीय विधायक से ईडी ने जनवरी में बारामती एग्रो, कन्नड़ एसएसके और कुछ अन्य के परिसरों की तलाशी के बाद और पहले भी पूछताछ की है.

11 घंटे तक हुई थी पूछताछ

रोहित जांच एजेंसी के दक्षिण मुंबई स्थित कार्यालय में 11 घंटे से अधिक समय तक रहे और रात तकरीबन 10 बजे वहां से निकले. ईडी के समन पर रोहित पवार ने कार्यालय में पहुंचकर अपना बयान दर्ज कराया था.

NO COMMENTS