कांग्रेसी ही पड़े शत्रुघ्न के पीछे, बताया ‘लालू का दलाल’

0
1346
शत्रुघ्न

प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय के समक्ष किया प्रदर्शन

सीमा सिन्हा,
पटना :
अभिनेता से नेता बने शत्रुघ्न सिन्हा के लिए अपनी संसदीय सीट पटना साहिब भारी पड़ती नजर आने लगी है. अपनी नई पार्टी कांग्रेस में ही उनका विरोध मुखर होने लगा है. कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने उन्हें राजद नेता लालू प्रसाद के “दलाल” बताते हुए सोमवार को पटना साहिब लोकसभा क्षेत्र से शत्रुघ्न की उम्मीदवारी रद्द करने की मांग करते हुए पटना स्थित पार्टी मुख्यालय सदाकत आश्रम के बाहर धरना प्रदर्शन किया.

नेताओं पर सीट ‘बेचने’ का आरोप
बिहार प्रदेश कांग्रेस कमेटी (बीपीसीसी) के प्रवक्ता एच.के. वर्मा ने हालांकि आशंका जताई कि उन कार्यकर्ताओं को “विपक्षी दलों” ने पार्टी मुख्यालय सदाकत आश्रम भेजा था. प्रदर्शनकारियों ने आरोप लगाया कि सिन्हा को राजद के इशारे पर कांग्रेस उम्मीदवार बनाया गया. उन्होंने अपने नेताओं का नाम लेते हुए यह आरोप भी लगाया कि बीपीसीसी अध्यक्ष मदन मोहन झा, पार्टी नेता शक्ति सिंह गोहिल और कांग्रेस के चुनाव अभियान समिति के प्रदेश अध्यक्ष अखिलेश प्रसाद सिंह ने इस सीट को “बेच” दिया है.

इससे पहले, रविवार को भी सिन्हा को कांग्रेस के प्रदेश मुख्यालय में इस लिए घेर लिया गया था, जब एक बैठक को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा था “जब मैं किसी के साथ दोस्ती करता हूं तो मैं अपनी वफादारी नहीं बदलता”. सिन्हा पटना साहिब लोकसभा सीट से मौजूदा सांसद हैं और 2014 में भाजपा के टिकट पर ही लगातार दूसरी बार विजयी हुए थे.

प्रधानमंत्री हो तो अखिलेश यादव या मायावती जैसा…
स्थानीय कांग्रेस कार्यकर्ताओं में इस बात से भी नाराजगी है कि पत्नी के समाजवादी पार्टी ज्वाइन करने के बाद शत्रुघ्न ने कहा था कि प्रधानमंत्री हो तो अखिलेश यादव या मायावती जैसा हो, जिनके अंदर काबिलियत और गुण हैं. उन्हें सिर्फ उत्तर प्रदेश के भविष्य नहीं बल्कि कभी-कभी तो देश के भविष्य के रूप में भी देखता हूं. प्रधानमंत्री कैंडिडेट के रूप में देखता हूं.

NO COMMENTS